Wednesday, June 26, 2019
Home > राष्ट्रीय > एसएससी घोटाले के ख़िलाफ़ छात्रों के विरोध प्रदर्शन का दसवां दिन

एसएससी घोटाले के ख़िलाफ़ छात्रों के विरोध प्रदर्शन का दसवां दिन

संंवाददाता (दिल्ली) अनोखे अंदाज़ में विरोध करते हुए धरना स्थल पर मौजूद छात्राओं ने महिला दिवस के दिन अपने हाथ बांधकर और मुँह पर काली पट्टी चिपकाकर एसएससी स्कैम के ख़िलाफ़ विरोध दर्ज कराया।

आंदोलित छात्रों ने 9 तारीख की एसएससी सीजीएल परीक्षार्थियों से अपील किया है कि एसएससी स्कैम के विरोध में देशभर के सभी परीक्षा केंद्रों पर वो काले कपड़े पहनकर जाएं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर एसएससी मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रही छात्राओं ने विरोध का नया तरीका अपनाया। कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) में हो रही धांधली, भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ धरने पर बैठी छात्राओं ने अपने हाथ पर बेड़ियां बांध ली और मुँह पर काली पट्टी चिपकाकर विरोध किया। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि एसएससी की सभी परीक्षाओं के पूरी कार्यप्रणाली की समयबद्ध तरीके से स्वतंत्र सीबीआई जाँच हो।

एसएससी के खिलाफ नारे लिखे तख्तियों के साथ बैठी छात्राओं ने कहा कि हम एसएससी के भ्रष्टाचार और अन्याय के शिकार हैं लेकिन सरकार हमारी मांग मानने की बजाए छात्रों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। छात्रों का कहना है कि ऐसी परिस्थितियों में महिला दिवस का जश्न मनाने का कोई मतलब नहीं है।

आज 10 दिन से छात्र छात्राएं मुख्यालय के सामने धरने पर बैठे हैं पर सरकार एसएससी में व्याप्त भ्रष्टाचार और धांधली की सीबीआई जांच कराने के बदले आंदोलन की लाठियों से समाप्त करना चाहती है।

छात्रों का आंदोलन विभिन्न शहरों में विरोध प्रदर्शन के साथ साथ राष्ट्रव्यापी रूप में उभर कर सामने आया है।

प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने 21 फरवरी को रद्द की गई परीक्षा जिसे 9 मार्च के लिए रीशेड्यूल किया गया था का भी विरोध करने का फ़ैसला लिया है। आंदोलनकारी छात्रों ने 9 तारीख़ की परीक्षा में शामिल होने वाले सभी अभ्यर्थियों से अपील किया है कि एसएससी घोटाले के विरोध स्वरूप काले रंग की पोशाक पहन कर परीक्षा में शामिल हों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *