Saturday, April 20, 2019
Home > स्वास्थ्य > हम भारत से टीबी उन्मूलन हेतु प्रधानमंत्री के मिशन का स्वागत करते हैं : अशोक बाजपेई

हम भारत से टीबी उन्मूलन हेतु प्रधानमंत्री के मिशन का स्वागत करते हैं : अशोक बाजपेई

संवाददाता (दिल्ली) इन्द्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल्स, नई दिल्ली के अशोक बाजपेई, प्रबन्ध निदेशक, अशोक बाजपेई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के टीबी उन्मूलन में कह वक्तवय का स्वागत किया है उन्होंने कहा की ‘‘हम 2025 तक भारत से टीबी उन्मूलन हेतु प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के मिशन का स्वागत करते हैं। देश आज ड्रग रेज़िस्टेंट टीबी और मल्टी-ड्रग रेज़िस्टेंट टीबी की समस्या से जूझ रहा है, जिसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर प्रयास करने की आवश्यकता है। जहां एक ओर सरकार पहले से टीबी पर लगाम लगाने के लिए फंड एवं संसाधन आवंटित कर चुकी हैं, वहीं दूसरी ओर यह बहु-आयामी दृष्टिकोण सुनिश्चित करेगा कि स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े सभी लोग इस अभियान में सक्रियता से हिस्सा लें और इसे कामयाब बनाने में अपना योगदान दें। टीबी उन्मूलन राष्ट्रीय प्राथमिकता है और एक स्वास्थ्यसेवा प्रदाता होने के नाते हम इस समस्या के समाधान में योगदान देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’’
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दिल्ली में “टीबी उन्मूलन” शिखर सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया।
प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि टीबी के खात्मे के लिए दिल्ली में हो रहा टीबी उन्मूलन शिखर सम्मेलन एक मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि इस रोग के खात्मे के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। यह गरीबों के जीवन में सुधार से भी जुड़ा हुआ है क्योंकि इसका सबसे ज्यादा शिकार भी गरीब ही होते हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने 2025 तक पूरी तरह से टीबी को खत्म करने का लक्ष्य रखा है जबकि वैश्विक लक्ष्य 2030 का है। उन्होंने कहा कि सरकार इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए व्यापक स्तर पर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में राज्य सरकारों की भूमिका अहम हैं और उन्होंने सभी मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखकर इस अभियान से जुड़ने का आग्रह किया है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि टीबी को खत्म करने के लिए टीबी फिजीशियन और स्वास्थ्य कर्मियों की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि हर वो व्यक्ति जो इस बीमारी को हराकर ही दम लेता है, वो भी प्रशंसा का पात्र है।
प्रधानमंत्री ने मिशन इंद्रधनुष और स्वच्छ भारत का उदाहरण देते हुए कहा कि किस तरह केंद्र सरकार तय किए गए लक्ष्यों को लेकर तेजी से कार्य कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *