Monday, November 19, 2018
Home > दिल्ली > जज लोया पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने कांगेस और उसकी सहयोगी पार्टियों की पोल खोली दी-महेश गिरी

जज लोया पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने कांगेस और उसकी सहयोगी पार्टियों की पोल खोली दी-महेश गिरी

संवाददाता (दिल्ली) भाजपा राष्ट्रीय मंत्री व पूर्वी दिल्ली सांसद महेश गिरी ने कहा कि जज लोया पर आज सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने कांग्रेस और उसके सहयोगी पार्टियों की पोल खोल कर रख दी है। इस याचिका को राजनीतिक बदले की भावना से दाखिल किया गया था। यह एक षडयंत्रकारी याचिका थी। जिसके पीछे एक अदृश्य हाथ है जो राजनैतिक कारणों से प्रेरित है।
सांसद ने कहा कि इस तरह की याचिकाओं द्वारा देश की न्याय व्यवस्था खासकर सर्वोच्च न्यायालय को बदनाम करने का षडयंत्र किया है जो बेहद दुर्भाग्यपुर्ण है। राहुल गांधी ने इस विषय पर प्रैस वार्ता की थी और 150 सांसदों के साथ महामहीम राष्ट्रपति जी के पास जाकर गुहार लगाई व राजनीतिक ढ़ोंग किया। खेद का विषय है कि कांग्रेस द्वारा बारम्बार भारतीय जनता पार्टी के यशस्वी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ षडयंत्र रच उन्हें अपमानित करने व राजनैतिक रूप से नुकसान पंहुचाने का प्रयास किया जा रहा है।
सांसद महेश गिरी ने कहा कि आज भारत की न्याय व्यवस्था ने सत्य को सामने रखा और उसकी जीत हुई। राहुल गांधी को अपने षडयंत्रकारी प्रयासों के कारण देश के माहौल का बिगाड़ने व अमित शाह को बदनाम करने की साजिश रचने के कारण भारत की न्याय प्रणाली की विश्वसनीयता को धूमिल करने की जो साजिश की इसके लिए उन्हें सार्वजनिक रूप से देश से मांफी मांगनी चाहिए।
गांधी परिवार को लगता है कि देश व शासन की बागडोर उन्हीं के हाथों में रहनी चाहिए। यदि कोई गरीब या पिछडा देश की सेवा करना चाहता है तो उसके खिलाफ घिनौनी राजनैतिक षडयंत्र कर उसे समाप्त करने की साजिश रचते है। राहुल गांधी जमीनी राजनीति करने में पूणतः असमर्थ है इसलिए वे कोर्ट के प्रांगण मे जो राजनीति करने का प्रयास कर रहे है, उसका सर्वोच्च न्यायालय ने भंडा फोड़ कर दिया है।
सांसद ने खेद व्यक्त किया है कि कुछ अधिवक्तओं ने अपने पेशे की मर्यादा को ध्यान मे न रखते हुए कोर्ट में जिस तरह का आचरण दिखाया व निंदनीय व दुर्भाग्यपूर्ण है। इन्होंने पी.आई.एल. को दुरूपयोग करते हुए इसे अपने निजी स्वार्थ के लिए पालिटिकल एवं पैसा इंटरेस्ट लिटिगेान बना दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *