Wednesday, November 21, 2018
Home > राष्ट्रीय > फ्रांस के सिक्ख भाईचारे ने पहलकदमी के लिए सिरसा का किया धन्यवाद

फ्रांस के सिक्ख भाईचारे ने पहलकदमी के लिए सिरसा का किया धन्यवाद

संवाददाता (दिल्ली) फ्रांस में भारतीय सफारतखाने न फ्रांस में रहते सिक्ख परिवारों के बच्चों को नए के पासपोर्ट जारी करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह मामला दिल्ली सिक्ख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के जनरल सचिव मनजिंदर सिंह सिरसा की तरफ से विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज के पास उठाया गया था जिस बाद में यह प्रक्रिया शुरू हुई है।
इस बात की जानकारी देते फ्रांस में रहते सिक्ख भाईचारे के नेताओं इकबाल सिंह भट्टी, चीमा बेगोवाल, सुरजीत सिंह, हरिंदरपाल सिंह और दूसरे ने बताया कि इस घटनाक्रम के साथ सिक्ख भाईचारे ने बड़ी राहत महसूस की है। इन्होंने नेताओं ने फ्रांस में अरोर डान नाम का संगठन बनाया हुआ है जो मानवीय अधिकारों के साथ संबधित मामले उठाता है और यह मामला इस की तरफ से सिरसा के पास कुछ समय पहले उठाया गया था।
इन्होंने नेताओं ने बताया कि जब उन्होंने यह मामला सिरसा के पास उठाया तो उन्होंने जहां यह मामला विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज के पास उठाया, वहां ही शिरोमणी अकाली दल के प्रधान स. सुखबीर सिंह बादल ने यह मामला प्रधान मंत्री दफ्तर के ध्यान में लाया जिस के नतीजे के तौर पर यह मसला हल हो सका।
उन्होंने बताया कि न सिर्फ अब सिक्ख भाईचारे के बच्चों को नए पासपोर्ट जारी हो रहे हैं बल्कि सफारतखाने ने यह भी भरोसा दिलाया है कि उन परिवारों को भी नए के पासपोर्ट जारी किए जाएंगे जिन के पास रिफ्यूजी स्टेटस है और उन्होंने खिलाफ भारत में किसी भी तरह का मुकदमा दर्ज नहीं है और वह अपनी वितीय हालत सुधारना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि इस के इलावा चार अन्य अनजाने मामले जिन में व्यक्तियों ने भारत में वापस अपने परिवारों के पास लौटने की इच्छा अभिव्यक्ति है, में से भी तीन केस सफारतखाने के विचार अधीन हैं और इन को परवानगी मिलने की संभावना है।
फ्रांस के नेताओं ने सिरसा का धन्यवाद किया और कहा कि यह सुखबीर सिंह बादल और मनजिंदर सिंह सिरसा की दखलअंदाजी द्वारा ही संभव हो सका है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *