Tuesday, February 19, 2019
Home > दिल्ली > अकाली दल द्वारा दिल्ली में भर्ती अभियान की शुरूआत

अकाली दल द्वारा दिल्ली में भर्ती अभियान की शुरूआत

संवाददाता (दिल्ली) शिरोमणी अकाली दल द्वारा दिल्ली में पार्टी को जमीनी स्तर पर मजबूर करने के लिए भर्ती अभियान की शुरूआत की गई है। इस अभियान के तहत लोगों को पार्टी की नीतियों एवं कारगुजारीयों से अवगत करवाकर पार्टी का सरगर्म सदस्य बनाया जायेगा। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के चुनाव अनुसार निर्मित सभी 46 निर्वाचन क्षेत्रां में इस अभियान के तहत बैठकों का आयोजन किया जायेगा। इस श्रृंखला में पहली बैठक शाहपुरा में स्थानीय कमेटी सदस्य चमन सिंह द्वारा आयोजित की गई। जहां पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मनजीत सिंह जी.के., प्रभारी बलविन्दर सिंह भूंदड़, प्रदेश के प्रधान महासचिव हरमीत सिंह कालका एवं कमेटी के संयुक्त सचिव अमरजीत सिंह फतेह नगर ने अपने विचार रखे।

जी.के. ने दिल्ली कमेटी द्वारा धर्मप्रचार, शिक्षा, रोजगार, इतिहास की संभाल, स्टाफ कल्याण, 1984 सिख कत्लेआम की लड़ाई लड़ने के साथ ही देश-विदेश में बैठे सिखों की परेशानियों को हल करने के लिए किये जा रहे कार्यो का विवरण दिया। जी.के. ने कहा कि सियासी दूष्प्रचार एवं धार्मिक स्टेजों के दुरूपयोग को छोड़कर हमने हर क्षेत्र में बेमिसाल कार्य किये थे। जिसके फलस्वरूप 2017 के कमेटी चुनाव के दौरान संगतों ने हमें दोबारा आशीर्वाद दिया था। कमेटी स्कूलों के कमजोर आर्थिक हालातों के बारे में चुप्पी तोड़ते हुए जी.के. ने तथ्यों के साथ विरोधियों पर निशाना साधा। जी.के. ने कहा कि आज भी हमारे स्कूलों में 450 कर्मचारी अतिरिक्त हैं। जिसके कारण हर महीने स्कूलों पर 1.5 से 2 करोड़ रूपये का अतिरिक्त आर्थिक भार पड़ रहा है। जिस कारण उक्त कर्मचारियों को निकाले बिना स्कूलां की अर्थव्यवस्था को संभालना कठिन है। पुराने प्रबंधकों ने गैरजरूरी एवं नकली डिग्री वाले स्टाफ की भर्ती करके स्कूलां के शिक्षण स्तर एवं अर्थव्यवस्था को इतनी गहरी चोट दी थी कि हमें स्कूलों को पुनः पटरी पर लाने के लिए अभी भी 6 महीने लगेंगे।
जी.के. ने बताया कि पिछली कमेटी स्कूलों में 43 करोड़ रूपये की एफ.डी.आर. एवं 175 करोड़ रूपये छठे वेतन आयोग का बकाया हमारे ऊपर छोड़ कर गई थी। जिसमें से 110 करोड़ रूपये का हम स्टाफ को आज तक भुगतान कर चुके हैं और 65 से 70 करोड़ रूपये बकाया देने के लिए हमारी कोशिश जारी है। जिस वजह से स्टाफ को 2 महीने की देरी से वेतन मिल रहा है। जी.के. ने ग्रेटर कैलाश सिंह सभा के माता गुजरी पब्लिक स्कूल के हवाले से श्री गुरू हरकृष्ण पब्लिक स्कूलों में मौजूद अतिरिक्त स्टाफ की तुलना भी की। जी.के. ने कहा कि माता गुजरी स्कूल में 2200 बच्चों के पीछे 4 प्रबंधकी स्टाफ है जबकि हमारी हेमकुंट ब्रांच में 45 और लोनी रोड में 74 प्रबंधकी स्टाफ मौजूद है। हालांकि अपने 5 वर्ष के कार्यकाल के दौरान हमने स्कूलां में नया एक भी प्रबंधकी कर्मचारी भर्ती नहीं किया। जी.के. ने साफ कहा कि पुराने प्रबंधकों ने अतिरिक्त भर्ती द्वारा कमेटी चुनावों को जीतने का मार्ग चुना था परन्तु संगत कमेटी के कामों को देख कर वोट देती है।
जी.के. ने कमेटी के 2 तकनीकी संस्थानां में मौजूद खामीयों को मौजूदा कमेटी द्वारा हल करने को 15 वर्ष के दौरान बीजे गये कांटों को 6 महीनों में निकालने के रूप में परिभाषित किया। जी.के. ने कहा कि हमने नगरकीर्तन एवं कीर्तन दरबारों से आगे बढ़कर कौम के भविष्य को संवारने के लिए कार्य करने के दौरान अपने सियासी गठबंधन की साथी भारतीय जनता पार्टी को भी मुद्दों के आधार पर आईना दिखाने से गुरेज नहीं किया। अकाली दल 98 वर्ष पुरानी पार्टी है, जिसका अपना गौरवशाली इतिहास है। गुरूनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के मौके आयोजित किये जा रहे समागमों की रूपरेखा का हवाला देते हुए जी.के. ने कमेटी द्वारा गुरमत प्रचार के अनोखे कार्यक्रम लाने का दावा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *