Tuesday, August 20, 2019
Home > ब्यापार > टीआईई ग्लोबल के प्रोजेक्ट एआईआरएसडब्ल्यूईईई को अमेरिकी विदेश विभाग से अतिरिक्त फंडिंग

टीआईई ग्लोबल के प्रोजेक्ट एआईआरएसडब्ल्यूईईई को अमेरिकी विदेश विभाग से अतिरिक्त फंडिंग

संवाददाता (दिल्ली) इंडिया हैबिटेट सेंटर में 22 और 23 अक्टूबर, 2018 को आयोजित “वुमन आंत्रप्रेन्योर्स कॉन्क्लेव 2.0- एंगेज्ड एंड एम्पॉवर्ड” के अवसर टीआईई ग्लोबल ने नई दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास और मुंबई, चेन्नई, कोलकाता और हैदराबाद में स्थित उसके चार उच्चायोगों के साथ मिलकर दो नए प्रोग्राम शुरू करने की घोषणा की है, जो हैं- एआईआरएसडब्ल्यूईईई स्केल-अप फैलो और एआईआरएसडब्ल्यूईईई ग्लोबल फैलो। यह टीआईई महिलाओं के उद्यमिता कार्यक्रम “ऑल इंडिया रोडशो ऑन वुमंस इकोनॉमिक एम्पॉवरमेंट थ्रू आंत्रप्रेन्योरशिप (एआईआरएसडब्ल्यूईईई) 2.0” के फॉलो-अप प्रोग्राम होंगे।
एआईआरएसडब्ल्यूईईई ने भारत के 16 राज्यों के 125 से ज्यादा टायर-2 और टायर-3 शहरों की 575 महिला उद्यमियों को सीधे-सीधे सशक्त बनाया है। 18 अमेरिकी महिला उद्यमियों और कारोबारियों के साथ-साथ उनकी 13 भारतीय समकक्षों के नेतृत्व में संचालित इस कार्यक्रम के तहत अमेरिकी कारोबार की बेस्ट प्रैक्टिसेस को उभरती भारतीय महिला उद्यमियों के साथ साझा करने के लिए प्लेटफार्म मुहैया कराया जाएगा ताकि वह भी स्थायी व्यापार स्थापित कर आर्थिक रूप से सशक्त बन सके।
महिला उद्यमियों को समर्थन देने के महत्व पर बोलते हुए, अमेरिकी दूतावास में डिप्टी चीफ ऑफ मिशन, मैरी के कार्लसन ने कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए कहा, “जिन अर्थव्यवस्थाओं में महिलाओं को समानता दी गई है, वह ही तेजी से आगे बढ़ती हैं। समान अवसर उपलब्ध कराने के लिए मजबूत और दिखाई देने वाले प्रयासों की आवश्यकता है।”
नई दिल्ली में अमेरिकी दूतावास में पब्लिक अफेयर्स के मिनिस्टर काउंसलर डेविड केनेडी ने अपने प्रयासों को और बढ़ाने के लिए टीआईई इंक को अतिरिक्त अवार्ड की घोषणा की। उन्होंने कहा, “हमें यह घोषणा करने में प्रसन्नता हो रही है कि अमेरिकी मिशन ने टीआईई इंक को अतिरिक्त फंडिंग दी है ताकि महिलाओं के स्वामित्व वाले व्यवसायों को बढ़ावा दिया जा सके और उन्हें वैश्विक स्तर पर सफलता प्राप्त हो सके।”
दो नए कार्यक्रमों के लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए प्रोजेक्ट एआईआरएसडब्ल्यूईईई की चेयरपर्सन और एक्सेलेरेटर ग्रुप एलएलसी की मैनेजिंग पार्टनर तथा टीआईई ग्लोबल बोर्ड की पूर्व सदस्य सीमा चतुर्वेदी ने कहा, “यह व्यापक रूप से सभी को पता है कि स्टार्ट-अप रणनीतियों से स्केल-अप रणनीतियां बहुत अलग हैं। हम अमेरिकी विदेश विभाग के आभारी हैं कि हमें स्टार्ट-अप चरण से आगे सफल होने के लिए आवश्यक मेंटरिंग सपोर्ट प्रदान कर पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूती देने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की है। निश्चित तौर पर इससे हमारे सदस्यों को वर्ल्ड लीडर बनने का मौका मिलेगा। ”

इस आयोजन के दौरान एआईआरएसडब्ल्यूईईई 2.0 के लिए “लिफ्ट पिच” सत्र भी आयोजित किया गया। 60-सेकंड की पिच को नई दिल्ली में अमेरिकी सेंटर में नेक्सस बिजनेस इनक्यूबेटर के निदेशक एरिक अज़ुले ने जज किया था
अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा वित्तपोषित एआईआरएसडब्ल्यूईईई स्केल-अप फैलो प्रोग्राम में भारतभर से 30 युवा, इनोवेटिव महिलाओं को मेंटरिंग मुहैया की जाएगी ताकि वे हैंड्स-ऑन इंडस्ट्री मेंटरशिप के जरिये उद्यमों को आगे बढ़ाएं। टॉप-3 स्केल-अप फैलो को एआईआरएसडब्ल्यूईईई ग्लोबल फैलो के तौर पर अमेरिका की यात्रा कराई जाएगी जो उन्हें विश्व स्तर पर चल रही बेस्ट प्रैक्टिसेस के बारे में जानने-समझने का मौका देगी।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *