Wednesday, November 21, 2018
Home > ब्यापार > लाॅट्स होलसेल सॉल्यूशंस ने भारत में किया अपना विस्तार

लाॅट्स होलसेल सॉल्यूशंस ने भारत में किया अपना विस्तार

मानव (दिल्ली) 50 बिलियन अमेरिकी डाॅलर के खैरोएन पोकफंड ग्रुप (सीपी ग्रुप) के अंग एवं थाईलैंड की सियाम मैक्रो पब्लिक कंपनी लिमिटेड (सियाम मैक्रो) की पूर्ण अधिग्रहीत सब्सिडियरी, लाॅट्स होलसेल सॉल्यूशंस ने पूर्वी दिल्ली के अक्षरधाम में अपने दूसरे होलसेल वितरण केंद्र का अनावरण किया। इस स्टोर का अनावरण, अमिताभ कांत, सीईओ, नीति आयोग द्वारा किया गया। इस साल इससे पूर्व कंपनी ने अपना पहला वितरण केंद्र नेताजी सुभाष पैलेस, पीतमपुरा में लाॅन्च किया था।
नया लाॅन्च किया गया स्टोर 45,000 से अधिक रजिस्टर्ड बिज़नेस ग्राहकों को सेवाएं प्रदान करेगा, जिनमें होटल, रेस्टोरैंट और केटरर्स (होरेका), किराना स्टोर, काॅर्पोरेट, एमएसएमई एवं सरकारी एजेंसियों, शैक्षिक संस्थानों एवं अस्पतालों जैसे संस्थान शामिल हैं। 53,000 स्क्वायर फीट से अधिक क्षेत्र में विस्तृत इस नए स्टोर में सभी सुविधाएं, जैसे रिस्टाॅकिंग के लिए आॅटोमैटिक सिस्टम आॅर्डर, ग्राहक के व्यवहार के अनुरूप मांग का पूर्वानुमान, निर्धारित सामान की प्राप्ति एवं डिस्पैचिंग, लाईव बेकरी आदि की सुविधाएं होंगी। इसके अलावा इसके रजिस्टर्ड सदस्यों की जरूरतों को पूरा करने के लिए पारदर्शी मूल्य, वर्ष भर प्रमोशन, उत्पादो की नियमित उपलब्धता, अंतिम छोर तक कस्टमाईज़्ड डिलीवरी और क्रेडिट सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी।
पहले पांच सालों में 1,000 करोड़ रु. (10 बिलियन रु.) के निवेश एवं उत्तर भारत में 15 होलसेल वितरण केंद्र खोलने की कंपनी की प्रतिबद्धता ने एक रूप लेना प्रारंभ कर दिया है। दिल्ली-एनसीआर में अपने प्रारंभिक कार्यों के साथ लाॅट्स होलसेल सॉल्यूशंस अगले पांच सालों में 5,000 प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष नौकरियों के निर्माण में मदद करेगा।
इस लाॅन्च के बारे में अमिताभ कांत, सीईओ, नीति आयोग ने कहा, ‘‘मैं दिल्ली-एनसीआर में दूसरा स्टोर खोलने के लिए लाॅट्स होलसेल सॉल्यूशंस को बधाई देता हूँ। भारत एकमात्र ऐसा देश है, जिसने बिज़नेस आसान बनाने के लिए 1,300 कानूनी नियमों को वापस लिया और आज 142 वें स्थान से 42 अंक आगे आकर 100 वें स्थान पर आ गया है। भारतीय एफडीआई में 62% की वृद्धि हुई है, जबकि वैश्विक आंकड़े में 16% की कमी आई है। यह भारतीय रिटेल की अद्वितीय कहानी है और सरकार वित्तीय समावेशन को आगे बढ़ाकर काॅमर्स, डीआईपीपी एवं फूड प्रोसेसिंग मंत्रालयों के साथ मिलकर काम कर रही है, ताकि बेहतर पैदावार के साथ किसानों की आय दोगुनी करके उन्हें राहत प्रदान की जा सके। हमारा उद्देश्य है कि हम भारत को लाॅर्ज फाॅर्मेट बिज़नेस समूहों के लिए एक आदर्श स्थान बनाएं, ताकि वो यहां पर अपना कारोबार स्थापित करके हमारे बढ़ते देश की बढ़ती मांग को पूरा करने में योगदान दे सकें। अंतरराष्ट्रीय कंपनी, जैसे लाॅट्स होलसेल सॉल्यूशंस भारत में काम प्रारंभ कर रहे हैं, जो निवेश एवं कारोबार में भारत की ओपन-डोर पाॅलिसी का प्रमाण है।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *