Wednesday, June 26, 2019
Home > दिल्ली > ईईएसएल के सहयोग से एनडीएमसी 100% स्मार्ट मीटर समाधान लागू करने वाली भारत की पहली नगर पालिका परिषद बनी

ईईएसएल के सहयोग से एनडीएमसी 100% स्मार्ट मीटर समाधान लागू करने वाली भारत की पहली नगर पालिका परिषद बनी

संवाददाता (दिल्ली) भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के अंतर्गत सुपर ऊर्जा सेवा कंपनी एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) ने आज नई दिल्ली नगर पालिका परिषद ;एनडीएमसीद्ध क्षेत्र में 50,000 पारंपरिक मीटरों की जगह स्मार्ट मीटर लगाने की योजना के पूरे होने की घोषणा की। इसके साथ ही एनडीएमसी भारत की 100 % स्मार्ट मीटर समाधान लागू करने वाली पहली वितरण कंपनी (डिस्कॉम) बन गई है। स्मार्ट मीटर लगाए जाने से जहां राजधानी में उपभोक्ताओं की सुविधा में बढ़ोत्तरी होगीए वहीं उपयोग भी तर्कसंगत बन सकेगा।

माननीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विद्युत,नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा आर.के. सिंह ने आवास और शहरी मामले के राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी,दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल, संसद सदस्य, नई दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र मिनाक्षी लेखी, भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय के सचिव ए.के.भल्ला एनडीएमसी के चेयरमैन नरेश कुमार और ईईएसएल के चेयरमैन राजीव शर्मा की मौजूदगी में एनडीएमसी की स्मार्ट मीटर परियोजना का उद्घाटन किया गया।

इसी कार्यक्रम के दौरान एनडीएमसी के मोबाइल एप्लीकेशन.311 में स्मार्ट मीटर फीचर का भी उद्घाटन किया गयाए जिससे उपभोक्ता को विभिन्न सेवाएं चुटकियों में हासिल हो पाएंगी। स्मार्ट मीटर का टैब एनडीएमसी के ऐप के मुख्य पृष्ठ पर ही जोड़ा गया है। इस सुगम और उपयोग में आसान ऐप के जरिए उपभोक्ता अब विस्तृत और व्यक्तिगत ब्योरे की मदद से अपनी ऊर्जा संबंधी आदतों और उपभोग के बारे में पूर्ण जानकारी हासिल कर सकेंगे।

स्मार्ट मीटर व्यापक आधुनिक मीटरिंग इंफ्रास्ट्रक्चर सोल्यूशन (एएमआई) का हिस्सा हैं, जो दिन के विभिन्न समय में उपभोक्ताओं के बिजली उपयोग का आकलन करता है और उसे दर्ज करता है। साथ ही यह वायु तरंगों पर आधारित संचार व्यवस्था के जरिए ऊर्जा आपूर्तिकर्ता को यह सूचना भेजता रहता है। यह उपभोक्ताओं को बेहतर तरीके से सूचना उपलब्ध करवाता है और उन्हें अपने घरों में बिजली के उपयोग के संबंध में ज्यादा जागरुक निर्णय लेने में सक्षम बनाता है। इससे बिजली की बर्बादी कम होगीए दीर्घकाल में कार्बन उत्सर्जन में कटौती और वित्तीय बचत का भी रास्ता प्रशस्त होगा।

एनडीएमसी के स्मार्ट मीटर कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए माननीय विद्युत राज्य मंत्री आर.के.सिंह सिंह ने कहा,हर व्यक्ति को किफायती बिजली उपलब्ध करवाने के लक्ष्य को पूरा करने की दिशा में भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। डाटा-एंट्री की खामियों और बिलिंग संबंधी अक्षमताओं को दूर करने और वेब.आधारित निगरानी व्यवस्था के जरिए मैनुअल मीटर रीडिंग की लागत को कम करने जैसे उपायों की मदद से बिजली का सक्षम प्रबंधन सुनिश्चित कर भारत सरकार स्मार्ट मीटर अपनाने के कार्यक्रम को तेजी से आगे बढ़ा रही है। स्मार्ट मीटर एटीएंडसी नुकसान को कम करनेए डिस्कॉम की सेहत को दुरुस्त करनेए ऊर्जा संरक्षण को प्रोत्साहित करने और बिल भुगतान को आसान करने जैसे व्यापक फायदों के जरिए बिजली क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव लाएगा। इसके अलावा यह कदम युवाओं के लिए कौशल आधारित रोजगार पैदा करेगा। यह कार्यक्रम सफलतापूर्वक लागू करने के लिए मैं ईईएसएल को बधाई देता हूं।श्

इस बारे में एनडीएमसी के चेयरमैन नरेश कुमार ने कहा,ऍनडीएमसी ने हमारे राष्ट्रीय ऊर्जा कार्यक्रम के उन्नयन की सरकार की योजना के साथ मिल कर काम करने के इरादे से स्मार्ट मीटर कार्यक्रम को अपनाया है। हमारा लक्ष्य भारत को एक निम्न.कार्बन अर्थव्यवस्था और ऊर्जा सक्षम देश बनने की यात्रा में अहम भूमिका निभाने का है। हमें खुशी है कि हम स्मार्ट मीटर क्रांति की भारत की राह के पथप्रदर्शक बने हैं। 100 प्रतिशत स्मार्ट मीटर लागू करने वाले पहले नगर निगम बनने के बाद अब हमें उम्मीद है कि हम देश के बाकी हिस्सों में भी ऐसी इकाइयों को ऐसे कदम उठाने के लिए प्रेरित कर सकेंगे।”

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *