Sunday, July 21, 2019
Home > दिल्ली > बीईई और सीपीडब्ल्यूडी ने ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए

बीईई और सीपीडब्ल्यूडी ने ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए

संवाददाता (दिल्ली) ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) और केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) ने ऊर्जा दक्षता निर्माण में सहयोग के लिए आज यहां समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। ज्ञापन पर बीईई के महानिदेशक अभय बाकरे और सीपीडब्ल्यूडी के महानिदेशक प्रभाकर सिंह ने भारत सरकार के सचिव (विद्युत) अजय कुमार भल्ला और विद्युत मंत्रालय, बीईई तथा सीपीडब्ल्यूडी के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए।
एमओयू के अनुसार, बीईई और सीपीडब्ल्यूडी नये भवनों के लिए अनुकूल देश भर में सीपीडब्ल्युडी द्वारा प्रबंधित भवनों की स्टार रेटिंग और ऊर्जा संरक्षण भवन कोड (ईसीबीसी) के अनुसार भवनों के डिजाइन और निर्माण को बढ़ावा देंगे, भवन निर्माण के क्षेत्र में उर्जा दक्षता के बारे में जागरूकता पैदा करेंगे और ईसीबीसी में सीपीडब्ल्युडी अधिकारियों की निर्माण क्षमता को बढ़ाने में मदद करेंगे। इसके लिए कोई पंजीकरण या नवीनीकरण शुल्क नहीं है।
यह एमओयू पांच साल तक लागू रहेगा, जब तक कि किसी भी पक्ष द्वारा उसे रद्द नहीं कर दिया जाता। बाकरे ने कहा, “सहयोग के क्षेत्रों में सीपीडब्ल्यूडी प्रबंधित भवनों में ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने के साथ-साथ सीपीडब्ल्यूडी अधिकारियों के क्षमता निर्माण, ईसीबीसी के नए भवनों का निर्माण और ऊर्जा दक्षता निर्माण पर अन्य विषयों पर ध्यान केंद्रित करना शामिल है।“
विद्युत मंत्रालय के तहत एक सांविधिक निकाय, बीईई और भारत सरकार की एक प्रमुख निर्माण एजेंसी सीपीडब्ल्यूडी का यह सहयोग ऊर्जा दक्षता और संरक्षण में नीति और कार्यक्रमों को लागू करने के लिए अनिवार्य है और देश में ऊर्जा कुशल भवनों के लिए नए मानदंड स्थापित करेगा और ऊर्जा सुरक्षा, आर्थिक विकास और पर्यावरणीय स्थिरता प्राप्त करने के लिए भारत सरकार के दृष्टिकोण का समर्थन करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *