Monday, March 25, 2019
Home > दिल्ली > नवम्बर तक हम आधी दिल्ली को गुरसिखी से जोड़ चुके होंगेः सिरसा

नवम्बर तक हम आधी दिल्ली को गुरसिखी से जोड़ चुके होंगेः सिरसा

संवाददाता (दिल्ली) दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष स. मनजिन्दर सिंह सिरसा ने अपनी पहली प्रैस कांफ्रैंस दौरान दिल्ली कमेटी के 6 वर्ष पूर्ण होने एवं बचे 2 वर्ष के लिए सभी इलैक्ट्रोनिक एवं प्रिंट मीडिया का धन्यवाद देते हुए उनसे भविष्य में भी सहयोग मिलने की आशा जताई। उन्होंने 6 वर्ष की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए खासकर 1984 कत्लेआम की यादगार सच की दीवार, बंगला साहिब में बाबा बघेल सिंह अजायबघर , तीन महान योद्धाओं की प्रतिमाओं स्थापित करना, शताब्दियाँ मनाना और आन्नद मैरिज एक्ट के 23 राज्यों में लागू होना, हुक्काबारों को बंद करवाने में कामयाबी के लिए पिछली का धन्यवाद किया। जबसे हमलोगों की कमेटी बनी उस समय स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या 19 हजार थी जो आज 42 हजार तक पहुंच गई है। उन्होंने भविष्य में बाबा महा सिंह शुकरचारिया एवं बाबा तारा सिंह की प्रतिमाऐं भी लगाने का ऐलान किया।
सिखी से दूर हो रही नई पीढ़ी पर चिंता प्रकट करते हुए उन्होंने कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य सिखों के इतिहास को प्रमोट करना है और दिल्ली कमेटी के काम में पारदर्शता लाना है। श्री गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व कैसे मनाया जायेगा इस पर मंथन शुरू हो चुका है। गुरू जी के चरणस्पर्श स्थानों को चाहे वे किसी भी देश में हो वहां की सरकार एवं दूतावास से संपर्क कर प्रकाश पर्व कैसे मनाया जायेगा, उसकी जानकारी दी जायेगी। हमलोग 70-80 पृष्ठ की एक पुस्तक जिसमें सभी भाषाओं में गुरू नानक देव जी के संदेश, सिक्खी सिद्धांत छाप कर अंग्रेजी भाषा के प्रचारक तेयार कर जो घर-घर जा कर दिल्ली कमेटी के सदस्यों के 2 वार्डा में जाकर हर परिवार से सिक्खी कुर्बानियों एवं मातृभाषा पंजाबी के बारे जानकारी देगें जिसका रोजनमंचा भी रखा जायेगा। सिरसा ने आशा व्यक्त की वे इस उद्देश्य को पाने के लिए नवम्बर तक आधी दिल्ली के सिख परिवारों को गुरुसिखी से जोड़ चुके होेंगे।
‘‘दा लाईफ ऑफ गुरू नानक देव जी’’ की छोटी फिल्में बनायेंगे जिससे हम दुनिया को बता सके कि जो खोजे आज की जा रही है वे गुरू नानक देव जी ने 500वर्ष पहले ही कर चुके थे। करतारपुर कॉरीडोर पर उन्हांने कम से कम 5000 लोगों की एक दिन में आने जाने की स्वीकृति के लिए पाकिस्तान सरकार से मांग की। उन्होंने बताया कि दिल्ली कमेटी डेरा बाबा नानक में एक सराय बाबा बचन सिंह कार सेवा के नेतृत्व में स्थान खरीद कर बनायेगी। उन्हांने अपना ज्यादा से ज्यादा ध्यान ऐजूकेशन पर देने की बात कही और 2.5 करोड़ रूपये के बजट के और बढ़ने की आशा जताई। इसके लिए रकाबगंज में चल रहे गुरमत स्कूल को भी प्रमोट करने की स्वीकृति दी। उन्होंने 1984 के जगदीश टाईटलर कातिलों को भी जेल जाने के लिए तैयार रहने के लिए कहा।
उन्होंने कहा कि मैं पॉजीटिव खबरों पर ज्यादा ध्यान देता हूं। मैं अकाली दल में हूं एवं सिखों की बात रखने के लिए दिल्ली विधान सभा में आया हूं। मैं अपने अतीत में जाना नहीं चाहता पर 16 वर्ष विरोधी लूटते रहे और अब उनके पास कोई मुद्दा नहीं है। वे नेगेटिव सोच वाले हैं। ज्ञान गोदड़ी एवं सिक्कम के गुरूद्वारों के बारे में वे प्रयास कर रहे है कि जल्द ही पंचायत द्वारा मामला सुलझा लिया जायेगा।
दिल्ली महासचिव सः हरमीत सिंह कालका ने कहा कि चुनाव मैनीफिस्टों में बाला साहिब हस्पताल को पहल दी गई थी। विरोधियों के हमलों के कारण बड़ी परेशानिया हुई। अब बाबा बचन िंसंह कारसेवा के सहयोग से यह काम जल्द ही शुरू किया जायेगा।
कुलवंत सिंह बाठ ने बताया कि दोष लगाते हुए कहा कि परमजीत सिंह सरना ने संगतों को गुमराह किया है और कमेटी के सदस्यों ने कोई दुकानदारी नहीं की, न ही किसी रिश्तेदार की भर्ती की। इसके लिए उन्होंने सरना की नाजायज भर्ती के आंकड़े भी प्रस्तूत किये। उन्होंने ं6ठा वेतन आयोग का जिक्र करते हुए कहा कि आजतक कमेटी 75 करोड़ रूपये बकाया राशि दे चुकी है और शेष भी वेतन के साथ दे रही है। उन्होंने पारदर्शता लाने की बात कही और दान की रसीद ऑन लाईन से मिलने की बात कही।
पूर्व प्रधान अवतार सिंह हित ने कहा कि जिन्होंने गलतियां की है वे माफ नहीं किये जायेगें। उन्होंने एक घटना का जिक्र करते हुए श्री कोविन्द जी गर्वनर के रूप में बिहार के एक गांव में जहां गुरू नानक देव जी के चरणर्स्पश स्थान पर वहां के मुखिया ने भूलवश राष्ट्रपति जी आये कहा था जो सक्षात साकार हो गया तो श्री कोविन्द जी वहां उस गुरूद्वारे को सवा लाख रूपये चढा कर नतमस्तक हुए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *