Tuesday, April 23, 2019
Home > राष्ट्रीय > 43 वें इंटरनेशनल कालेजिएट प्रोग्रामिंग कंटेस्ट की अंतिम वैश्विक प्रतियोगिता में आईआईटी रुड़की को भारतीय टीमों में दूसरा स्थान

43 वें इंटरनेशनल कालेजिएट प्रोग्रामिंग कंटेस्ट की अंतिम वैश्विक प्रतियोगिता में आईआईटी रुड़की को भारतीय टीमों में दूसरा स्थान

संवाददाता (रूड़की) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) रुड़की की टीम “होल्ड राइट देयर स्पार्की” ने 43 वें इंटरनेशनल कालेजिएट प्रोग्रामिंग कंटेस्ट (आईसीपीसी वल्र्ड फाइनल्स) की अंतिम वैश्विक प्रतियोगिता में पूरी दुनिया में 41वां स्थान और 49वां रैंक हासिल किया और भारतीय टीमों में दूसरे स्थान पर रही। हाल में पुर्तगाल के पोर्टो में आयोजित प्रतियोगिता में आईआईटी रुड़की टीम का नेतृत्व कोच बालासुब्रमण्यन रामन ने किया और प्रतिभागी थे : देवांशु अग्रवाल, समरथ जोशी, अभिषेक कन्हार।
प्रतियोगिता में समाधान करने के लिए 11 प्रश्न दिए गए और प्रतिभागियों को समय सीमा में कम्प्युटर प्रोग्रामिंग के माध्यम से कोडिंग कर प्रत्येक समस्या का समाधान देना था और इसका परिणाम प्रस्तुत करना था। प्रतियोगिता का मकसद क्रिएटिवीटी, टीम भावना और इनोवेशन को बढ़ावा देकर नए साफ्टवेयर का विकास करना और विद्यार्थियों को दबाव में काम करने में अधिक सक्षम बनाना है। पूरी दुनिया से आई 135 टीमों में आईआईटी.रुड़की ने भारत से चुनी गई 8 टीमों में अपनी जगह बनाई।
इस पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए आईआईटी रुड़की के निदेशक प्रो.अजीत के चतुर्वेदी ने कहा,”हमारे विद्यार्थियों की यह अद्भुत उपलब्धि है। मुझे विश्वास है कि इस तरह की प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में भाग लेकर विद्यार्थियों को अपनी प्रतिभा दिखाने और अपने फलक (होराइज़न) का विस्तार करने का अवसर मिलता है |”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *