Monday, May 27, 2019
Home > स्वास्थ्य > अपोलो हाॅस्पिटल्स ने चिकित्सा तकनीकों में आधुनिक इनोवेशन्स के साथ कार्डियक केयर के नए युग की शुरूआत की

अपोलो हाॅस्पिटल्स ने चिकित्सा तकनीकों में आधुनिक इनोवेशन्स के साथ कार्डियक केयर के नए युग की शुरूआत की

मानव (दिल्ली) अपोलो हाॅस्पिटल्स एंटरप्राइज़ लिमिटेड ने आधुनिक कार्डियक तरीकों से सबसे अधिक मामलों में मरीज़ों के इलाज तथा कार्डियक देखभाल में ग्रुप के कौशल का प्रदर्शन किया है। इनमें तीन प्रमुख इनोवेशन्स शामिल हैं- मित्राक्लिप या और TAVI ट्रांस- कैथेटर आर्योटिक वाॅल्व इम्प्लान्टेशन या TAVR ट्रांस- कैथेटर आर्योटिक वाॅल्व रिप्लेसमेन्ट और MICAS या मिनीमली इनवेसिव कोरोनरी आर्टरी बायपास सर्जरी। भारत में कुल 9 मित्राक्लिप प्रक्रियाएं की गई हैं जिनमें से 6 प्रक्रियाएं अपोलो हाॅस्पिटल्स के स्ट्रक्चरल एवं इंटरवेंशनल कार्डियोलोजी के विशेषज्ञों ने की हैं, इसी तरह अपोलो हाॅस्पिटल्स के विशेषज्ञों ने विश्वस्तरीय कीमतों की तुलना में मात्र आधी या एक तिहाई कीमतों पर 85 से अधिक TAVI/TAVR प्रक्रियाओं और 1250 से अधिक MICS प्रक्रियाओं को अन्तर्राष्ट्रीय मानकों को बरक़रार रखते हुए उत्कृष्ट परिणामों के साथ अंजाम दिया है।

भारत की चिकित्सा प्रोद्यौगिकी में अपोलो हाॅस्पिटल्स की अग्रणी स्थिति पर बात करते हुए डाॅ प्रताप सी रेड्डी, संस्थापक एवं चेयरमैन, अपोलो हाॅस्पिटल्स ग्रुप ने कहा, ‘‘एक अनुमान के अनुसार दुनिया भर में हर साल 17 मिलियन लोगों की मृत्यु दिल की बीमारियों (कार्डियोवैस्कुलर रोगों) के कारण होती है। आज हमारे पास तकनीक की क्षमता है और हमें इस क्षमता का इस्तेमाल कर दिल की बीमारियों के बढ़ते बोझ से जूझने के लिए अपने आप को सशक्त बनाना चाहिए। हर व्यक्ति तक अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की स्वास्थ्यसेवाएं पहुंचाने के उद्देश्य के साथ हम कार्डियक केयर के क्षेत्र में अग्रणी रहे हैं। हम अपने मरीज़ों को आधुनिक तकनीक से लाभान्वित करने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं। पिछले सालों के दौरान अपोलो हाॅस्पिटल्स ने कार्डियक केयर के क्षेत्र में अपने आप को सबसे उत्कृष्ट संस्थान के रूप में स्थापित किया है। इसमें कोई संदेह नहीं कि हम आज इस क्षेत्र में सबसे बड़े और सबसे आधुनिक चिकित्सा सेवा प्रदाता हैं।’’

मिस संगीता रेड्डी, जाॅइन्ट मैनेजिंग डायरेक्टर, अपोलो हाॅस्पिटल्स ग्रुप ने कहा, ‘‘भारत में दिल की बीमारियों से प्रभावित मरीज़ों की चुनौतियों को समझना और इसके लिए सशक्त वैज्ञानिक दृष्टिकोण अपनाना समय की मांग है। इसी दृष्टिकोण के साथ हम एक ऐसे भविष्य की दिशा में काम करते हैं जहां आबादी, लागत, परिणामों को ध्यान में रखते हुए मरीज़ों को कार्डियोवैस्कुलर देखभाल मुहैया कराई जाती है, हर मरीज़ की ज़रूरत को ध्यान में रखते हुए उसे आधुनिक चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराई जाती हैं। आज चिकित्सा के क्षेत्र में तकनीक की भूमिका को अनदेखा नहीं किया जा सकता, तकनीक चिकित्सा क्षेत्र के साथ उसी तरह से जुड़ी है, जैसे शरीर के साथ परछाईं। हम मरीज़ों की बेहतर नियन्त्रण, बेहतर विकल्प एवं बेहतर जानकारी देने के लिए अपनी सेवाओं को डिज़ाइन करते हैं। तकनीक के द्वारा जहां एक ओर मरीज़ों को कम लागत पर बेहतर चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराई जा सकती हैं, वहीं दूसरी ओर चिकित्सकीय परिणामों में भी सुधार लाया जा सकता है। हमरा मानना है कि तकनीकी हस्तक्षेपों के द्वारा आने वाले समय में चिकित्सकीय परिणामों में सुधार लाया जा सकता है। अपोलो हाॅस्पिटलस में अत्याधुनिक तकनीक के इस्तेमाल में अपने कौशल के साथ हम देश और दुनिया भर के मरीज़ों को कार्डियक केयर के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *