Wednesday, February 19, 2020
Home > दिल्ली > विश्व मे शांति ,भाई चारा हो ऐसे समाज की परिकल्पना करते है-योगी माथुर

विश्व मे शांति ,भाई चारा हो ऐसे समाज की परिकल्पना करते है-योगी माथुर

मानव (दिल्ली) आज समाज मे चारो ओर सामाजिक समरसता का अभाव है, हम ऐसे समाज की परिकल्पना करते है ,जहाँ चारो और भाई चारा, सामाजिक समरसता हो,यह कहना है सस्थापक तपस्वी आदर्श परिवार के योगी योगेंद्र माथुर का। इनका आश्रम रोहणी सेक्टर 38 ,100 मीटर रोड,नजदीक हेलीपेड पोर्ट पर कई एकड़ में स्थित है,।योगी जी ने बताया कि उनका कई वर्षों से समाज में शहीदों के प्रति हो रहे अनादर को लेकर विचलित रहता था, हमेशा मन मे भावना रहती थी कि शहीदों के लिए कुछ किया जाये, इसी को लेकर मैने इस आश्रम की स्थापना की ,यहाँ सभी प्रकार की ऑर्गेनिक खेती होती है, हम प्रदूषण को लेकर भी समाज को सजग कर रहे है, हमारा मानना है कि प्राकृतिक वस्तुए ज्यादा से ज्यादा उपयोग करनी चाहिए। योग,ध्यान,नियमित रूप से किया जाना चाहिए , योगी योगेंद्र माथुर का मानना है कि हमे अपनो से बड़ो का आदर करना चाहिए,ओर जरूरत मंदो की मदद करनी चाहिए,आश्रम में आने वाले अथितियों का स्वागत किया जाता है ।रहने,खाने की व्यवस्था मुफ्त की जाती है ,यहाँ कई जानी मानी हस्तियां अति रहती जिसमे पूर्व सैनिक, खिलाड़ी, समाज सेवक,आदि है।
माथुर का कहना है कि जो भी समाज अच्छे कामो को करता है उनको कई रुकावट का भी सामना करना पड़ता है, उन्होंने आश्रम की भूमि को लेकर बताया कि कई असमाजिक लोगो की हमारी भूमि पर गलत नजर है ,उनको लगता है कि कई करोड़ो की जमीन आस पास सोना उगल रही है, यहाँ डी डी ए की कई विकसित कालोनिया बन रही है पास ही रोहणी हेलीपेड भी बन जाने से भूमाफियाओं की बुरी नजर है आये दिन किसी न किसी कारण से तंग किया जाता है।हम कानून के पालक है , उनके मंसूबे कामयाब नही होने देंगे।
योगी योगेंद्र माथुर ने बताया कि हम यहाँ एक शहीदी स्थान शहीदी स्मृति चेतना मंदिर बनाना चाहते है जहाँ शहीदों की यादगार यादे हो, यहाँ हर वर्ग के लोगो का आना जाना रहता है,गौ शाला में कई गाये है ,योग शिक्षा, ऑर्गेनिक खेती बाड़ी के बारे में भी बताया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *