Wednesday, June 26, 2019
Home > राष्ट्रीय > जेडीयू उम्मीदवारों को जितवाने में मोदी फैक्टर ने ही अधिक काम किया

जेडीयू उम्मीदवारों को जितवाने में मोदी फैक्टर ने ही अधिक काम किया

संवाद (दिल्ली )जेडीयू सूत्रों के अनुसार नीतीश हड़बड़ी में नहीं हैं। राज्य में अपने हिसाब से कैबिनेट विस्तार करके उन्होंने बिहार में अपनी बॉस वाली स्थिति फिर से स्थापित कर दी है। अब वह बीजेपी के रुख का इंतजार करेंगे। नीतीश ने विचारधारा के साथ समझौता नहीं करने की बात भी कही है। धारा 370, राम मंदिर और नागरिकता कानून जैसे मुद्दों पर उनके बीजेपी के साथ बुनियादी मतभेद रहे हैं। बीजेपी इन मुद्दों पर जब आक्रामक होगी, तब नीतीश के सामने असहज स्थिति पैदा हो सकती है।
बिग ब्रदर की भूमिका साख पर : 2005 में बीजेपी के साथ गठबंधन बनाकर सत्ता में आने वाले नीतीश कुमार तब से लेकर अब तक लगातार राज्य में बिग ब्रदर बने हुए हैं। 2015 में जब आरजेडी से दोस्ती हुई, तब भी नीतीश ही आगे थे। इन वर्षों में कम से कम इस मोर्चे पर कभी चुनौती नहीं मिली, लेकिन इस बार आम चुनाव में जिस तरह नरेंद्र मोदी के नाम पर वोट पड़े और जेडीयू उम्मीदवारों को जितवाने में भी मोदी फैक्टर ही अधिक काम आया उसे नीतीश कुमार ने सियासी संदेश और चुनौती माना। राज्य में 2020 के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। इससे पहले वह अपने दम पर बिग ब्रदर की भूमिका में आना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *