Tuesday, August 20, 2019
Home > राष्ट्रीय > आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर 10 अगस्त, 2019 को राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन करेगा जीसीडीसीपी

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर 10 अगस्त, 2019 को राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन करेगा जीसीडीसीपी

संवाददाता (दिल्ली) दुनिया डिजिटल क्रांति के शिखर पर है और इस परिवर्तन के दौरान, इंडस्ट्री की जरूरतें भी बदल रही हैं। सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) की तेजी से बढ़ती मांग के मद्देनजर, एक वैश्विक मंच, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (आईटी), एनालिटिक्स, ग्लोबल काउंसिल फॉर डेवलपमेंट ऑफ कंसलिं्टग प्रोफेशनल्स (जीसीडीसीपी) जैसे नए टूल, एक साथ मिलकर राजधानी के एयरोसिटी स्थित होटल हॉलिडे इन में 10 अगस्त को एक राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन करने जा रहे हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, एनालिटिक्स, और कंसल्टिंग क्षेत्रों के प्रोफेशनल्स की गैलेक्सी रोज-रोज होने वाली घटनाओं पर विचार-विमर्श करने, उन पर चर्चा करने और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को अपनाने के संबंध में ‘कंसलिं्टग इंडस्ट्री में इंटेलिजेंस’ जैसी कुछ रणनीतियों के साथ सामने आएगी।
उल्लेखनीय है कि भारत, दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आबादी के साथ सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होने के नाते, एआई क्रांति में महत्वपूर्ण हिस्सेदारी है। अर्थव्यवस्थाओं को बदलने के लिए एआई की क्षमता और भारत के लिए इसके दृष्टिकोण को रणनीतिक बनाने की आवश्यकता को स्वीकार करते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री ने 2018 – 2019 के अपने बजट भाषण में नीति आयोग को ।प् पर राष्ट्रीय कार्यक्रम आयोजित करने का परामर्श दिया, जिसमें नई और उभरती प्रौद्योगिकियों में विकास एवं अनुसंधान का मार्गदर्शन किया जाए।
नाॅलेज बेस्ड इंडस्ट्री होने के नाते; इंटेलिजेंस इंडस्ट्री काफी हद तक इससे प्रभावित होगा, क्योंकि एआई नाॅलेज इकोनाॅमी के लिए खास महत्व रखता है। इसलिए, उद्घाटन सत्र में कॉर्पोरेट जगत, सलाहकार और कंसल्टिंग इंडस्ट्री में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के सम्मेलन के लिए एक वैश्विक दृष्टिकोण बनाने पर ध्यान केंद्रित करेगा। मुख्य सत्र के बाद देश भर के प्रोफेशनल्स के लिए पैनल डिस्कशन और नेटवर्किंग भी की जाएगी।
इस आयोजन में भारत के पहले और एकमात्र आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) मोस्ट वैल्यूएबल प्रोफेशनल (एमवीपी) और माइक्रोसॉफ्ट के क्षेत्रीय निदेशक (आरडी) निशीथ पाठक की भागीदारी भी होगी।
गेट मी एक्सपर्ट एंड फ्लेक्सीऑर्ग के संस्थापक और एआई सम्मेलन के आयोजक अजय शर्मा ने कहा, ‘दुनिया तेजी से विकसित हो रही है और वर्तमान और भविष्य की जरूरतों के लिए नवाचार इसे आकार दे रहे हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इन नवाचारों में से एक महत्वपूर्ण परामर्श है, जो निर्विवाद रूप से हमारी दुनिया और समाज को बदलने की ताकत रखता है। यह परामर्श, इंजीनियरिंग, चिकित्सा, वित्त और विपणन के क्षेत्र में पहले से ही महत्वपूर्ण स्थान रखता है। सम्मेलन में, ळब्क्ब्च् का उद्देश्य एक मंच पर विशेषज्ञों और हितधारकों को एक साथ लाना है। प्रौद्योगिकी विशेषज्ञों और सलाहकारों के बीच विचारों का क्रॉस-परागण ग्राहक के मुद्दों को समझने के लिए सही नैदानिक उपकरण लाएगा।’
यह सम्मेलन स्टार्ट-अप, कॉर्पोरेट, एनालिटिक्स, सरकारी सलाहकार और कंसल्टिंग संगठनों से निदान, मूल्यांकन, समझ और कृत्रिम बुद्धिमत्ता के स्कोप से संबंधित प्रश्नों को हल करने और आने वाले भविष्य में परामर्श उद्योग के साथ कुलीन पेशेवरों के लिए सही मंच बनने के साथ ही इनके सहयोग को दिखाने के लिए भागीदारी का गवाह बनेगा।
सम्मेलन नए परामर्श कौशल सेटों, मसलन उन नई पीढ़ी को कैसे प्रशिक्षित किया जाए, जो कंसल्टेंसी में करियर बनाने के इच्छुक हैं और जिनकी निकट भविष्य में जरूरत हो सकती है, पर भी प्रकाश डालेगा। इसके साथ ही यह सम्मेलन सोच और समस्या-समाधान के नए तरीकों का पता लगाने की भी कोशिश करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *