Tuesday, July 7, 2020
Home > ब्यापार > भारत में दूसरी सेफ रोड्स इंडिया समिट 2019 में ईएसएफ 2019, द एक्सपेरिमेंटल सेफ्टी वैहिकल का अनावरण हुआ

भारत में दूसरी सेफ रोड्स इंडिया समिट 2019 में ईएसएफ 2019, द एक्सपेरिमेंटल सेफ्टी वैहिकल का अनावरण हुआ

 संवाद (दिल्ली) – भारत में डायमलर इकाईयों ने श्री नितिन गडकरी, भारत के माननीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री, अतिलघु, लघु एवं मध्यम उद्यमों के लिए मंत्री, भारत सरकार की मौजूदगी में सेफ रोड्स समिट इंडिया 2019 के दूसरे एडिशन में मर्सिडीज़ बेंज एक्सपेरिमेंटल सेफ्टी वैहिकल ईएसएफ 2019 का अनावरण किया।
सेफ रोड्स समिट इंडिया 2019 भारत में काम करने वाली डायमलर इकाईयों – मर्सिडीज़ बेंज रिसर्च एंड डेवलपमेंट इंडिया (एमबीआरडीआई), मर्सिडीज़ बेज इंडिया (एमबीआईएल) एवं डायमलर इंडिया कमर्षियल वैहिकल्स (डीआईसीवी) द्वारा 2015 में लाॅन्च किए गए देशव्यापी ‘सेफ रोड्स’ अभियान का हिस्सा है।
सेफ रोड्स का सिद्धांत 2015 में एक रोड शो.फाॅर्मेट के द्वारा प्रदर्षनों, विज़्युअल एड्स एवं रिसर्च की रिपोर्ट्स के माध्यम से लोगों के बीच सड़क सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए रखा गया। जागरुकता का स्तर बढ़ाते हुए सेफ रोड्स इंडिया समिट का लाॅन्च 2017 में ‘चाईल्ड सेफ्टी एंड वल्नरेबल रोड यूज़र्स आन इंडियन रोड्स’ (भारतीय सड़कों पर बच्चों की सुरक्षा एवं सड़क पर चलने वाले अन्य चालकों की सुरक्षा) की थीम के साथ किया गया।
इस साल की समिट ‘आटोमेटेड ड्राईविंग एंड फ्यूचर आफ रोड सेफ्टी इन इंडिया’ (आटोमेटेड ड्राईविंग एवं भारत में सड़क सुरक्षा का भविश्य) की थीम पर आयोजित होगी। एक दर्जन से ज्यादा आधुनिक सुरक्षा इनोवेशंस को ठोस रूप में अपनाते हुए इस समिट में भविष्य की मोबिलिटी एवं आटोमेटेड ड्राईविंग से जुड़े सुरक्षा सिस्टम्स का नया दृष्टिकोण प्रतिबिंबित हुआ। इस ईवेंट के आकर्शणों में जर्मनी से आयातित प्रदर्षनियां हैं, जो सड़क दुर्घटनाओं में जिंदगियों को बचाने वाले सुरक्षा उपायों का फस्र्ट-हैंड लुक प्रदान करती हैं। यह समिट डायमलर के लिए भारत में फ्यूचरिस्टिक रिसर्च कार, ‘मर्सिडीज़ बेंज ईएसएफ 2019’ का अनावरण करने के लिए एक बेहतरीन अवसर थी।
सुरक्षा डायमलर एवं इसके आटोमोटिव ब्रांड्स की मुख्य प्रतिस्पर्धात्मकता एवं प्रमुख मूल्य है, जिसमें विष्वप्रसिद्ध ‘मर्सिडीज़ बेंज’ शामिल है। मर्सिडीज़ बेंज दुनिया में अत्यधिक उन्नत सुरक्षा सिस्टम्स बनाने के लिए प्रसिद्ध है। भारत की सड़कों पर हर साल लगभग 150,000 लोग सड़क दुर्घटनाओं में मरते हैं, जिनमें से ज्यादातर सुरक्षा नियमों व कानूनों को न जानने के कारण होती हैं। भारतीय सड़कों पर होने वाली मौतों को कम करने के डायमलर द्वारा ‘सेफ रोड्स’ का सिद्धांत बनाया गया, ताकि सड़क सुरक्षा के बारे में ज्यादा जागरुकता बढ़ाई जा सके। डायमलर को विष्वास है कि इस तरह के अभियान सड़क सुरक्षा की जागरुकता के एक युग की शुरुआत करेंगे, जो भारतीय नागरिकों के लिए सड़क सुरक्षा की नई संस्कृति में सहयोग करेगा।
मनु साले, मैनेजिंग डायरेक्टर एवं सीईओ, एमबीआरडीआई ने कहा, ‘‘मर्सिडीज़ बेंज पर सुरक्षा हमारे ब्रांड के वादे का महत्वपूर्ण हिस्सा है और सेफ रोड्स के साथ हमारा प्रयास सड़कों को हर यूज़र के लिए सुरक्षित बनाने में सहयोग करना है। भारत में सड़क सुरक्षा की स्थिति को समझते है, हमने चार साल पहले देश में सेफ रोड्स अभियान प्रारंभ किया। देश में सड़क सुरक्षा को बढ़ावा देने की हमारी यात्रा पहले आठ शहरों में रोड शो के साथ शुरू होकर अब सेफ रोड्स इंडिया समिट तक काफी संतोषजनक रही है। दो साल में होने वाली यह समिट हमारे अभियान को सतत व सबसे प्रभावशाली तरीके से बड़ी संख्या में ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए एक महत्वपूर्ण प्रयास है। यह भारत एवं पूरी दुनिया से आटोमोटिव सेफ्टी एक्सपरटस का समूह है, जो लाईव प्रदर्षनियों एवं विषेशज्ञ वार्ता द्वारा सुरक्षा के क्षेत्र में नई प्रगति एवं विचारों का आदान प्रदान करता है।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *