Friday, November 22, 2019
Home > ब्यापार > मणप्पुरम का दूसरी तिमाही शुद्ध लाभ 82% की वृद्धि के साथ ₹402 करोड़ हुआ

मणप्पुरम का दूसरी तिमाही शुद्ध लाभ 82% की वृद्धि के साथ ₹402 करोड़ हुआ

संवाददाता (दिल्ली) मणप्पुरम फाइनेंस लिमिटेड ने 30 सितंबर, 2019 को समाप्त तिमाही के लिए समेकित शुद्ध लाभ की घोषणा की जो 82% की तीव्र वृद्धि के साथ शुद्ध लाभ ₹402.28 करोड़ तक पहुंच गया है। गत वर्ष की इसी तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ ₹221.39 करोड़ दर्ज किया गया था। अकेले इस इकाई (सहायक कंपनियों को छोड़कर) का शुद्ध लाभ ₹334.72 करोड़ दर्ज किया गया है।

इस तिमाही के दौरान, 26.85% की वृद्धि के साथ परिचालन से होने वाली कुल समेकित आय ₹1,286.78 करोड़ दर्ज की गई, जो एक साल पहले इसी तिमाही में ₹1,014.44 करोड़ थी। 31.91 प्रतिशत की वृद्धि के साथ, कुल एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) ₹22,676.93 दर्ज की गई, जो पिछले साल की इसी तिमाही के दौरान ₹17,190.70 करोड़ थी।

मौजूदा तिमाही के वित्तीय परिणामों पर विचार करने के लिए आज वल्लपद में निदेशक मंडल की बैठक हुई, जिसमें ₹2 के फेस वैल्यू के साथ प्रति शेयर ₹0.55 के अंतरिम लाभांश को मंजूरी दी गई।

इस तिमाही के दौरान, 20.45 प्रतिशत की वृद्धि के साथ, गोल्ड लोन के संदर्भ में एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) ₹15,168.34 दर्ज की गई, जो पिछले साल की इसी तिमाही के दौरान ₹12,592.80 करोड़ थी। गोल्ड लोन के कारोबार में भी बढ़ोतरी हुई तथा इसमें 3.62 लाख नए ग्राहक जुड़े, और कुल मिलाकर ₹50,296.26 करोड़ का लोन दिया गया। 30 सितंबर, 2019 तक गोल्ड लोन के सक्रिय ग्राहकों की संख्या 25.9 लाख थी।

माइक्रोफाइनेंस के क्षेत्र में इसकी सहायक कंपनी, आशीर्वाद माइक्रोफाइनेंस ने 73.12 प्रतिशत वृद्धि के साथ ₹4,724.25 करोड़ की AUM दर्ज की, जो पिछले वित्त-वर्ष की इसी अवधि में ₹2,728.94 करोड़ रुपये थी। होम लोन के क्षेत्र में इसकी सहायक कंपनी, मणप्पुरम होम फाइनेंस प्रा. लि. ने ₹567.93 करोड़ की AUM दर्ज की, जबकि इसके वाणिज्यिक वाहन प्रभाग ने मौजूदा तिमाही में ₹1,317.76 करोड़ रुपये की AUM दर्ज की। कुल मिलाकर, कंपनी के समेकित AUM में गैर-स्वर्ण ऋण व्यवसायों का योगदान 33 प्रतिशत रहा है।

तिमाही के परिणामों को मीडिया के साथ साझा करते हुए, श्री वी.पी. नंदकुमार, एमडी एवं सीईओ, ने कहा, “इस वित्त-वर्ष की दूसरी तिमाही के दौरान हमारा प्रदर्शन, लाभप्रदता के साथ विकास के हमारे घोषित उद्देश्य की दिशा में निरंतर प्रगति को दर्शाता है। हमने कुल कारोबार के साथ-साथ लाभप्रदता के संदर्भ में भी काफी प्रगति की है, जिसका श्रेय हमारे सभी वर्टिकल द्वारा हर क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन को जाता है। निश्चित तौर पर हम भविष्य में इसी गति को बरकरार रखते हुए आगे बढ़ेंगे।”

30 सितंबर, 2019 तक, कंपनी की समेकित निवल संपत्ति ₹5,061.80 करोड़ थी। प्रति शेयर बुक वैल्यू ₹60.03 दर्ज की गई, जबकि कंपनी की कुल उधार राशियाँ ₹18,346 करोड़ थी। केवल इस इकाई के संदर्भ में, मौजूदा तिमाही के दौरान 4 bps की मामूली कमी के साथ औसत उधार लागत घटकर 9.30 प्रतिशत हो गई। पूंजी पर्याप्तता अनुपात 22.66 प्रतिशत था, जबकि केवल इस इकाई के संदर्भ में सकल एनपीए (NPA) की स्थिति 0.55 प्रतिशत थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *