Tuesday, February 25, 2020
Home > स्वास्थ्य > मेदान्ता ने टीबी-मुक्त हरियाणा की प्रतिबद्धता के साथ लॉन्च किया ‘टीबी फ्री ब्लॉक पटौदी’

मेदान्ता ने टीबी-मुक्त हरियाणा की प्रतिबद्धता के साथ लॉन्च किया ‘टीबी फ्री ब्लॉक पटौदी’

संवाददाता (पटौदी) भारत को टीबी मुक्त बनाने की प्रतिबद्धता को जारी रखते हुए मेदान्ता  की प्रमुख पहल मिशन टीबी फ्री हरियाणा ने इंटरनेशनल यूनियन अगेन्स्ट ट्यूबरकुलोसिस एण्ड लंग डिज़ीज, भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कलयाण मंत्रालय के केन्द्रीय टीबी विभाग और हरियाणा सरकार के सहयोग से ज़िले में टीबी के निदान एवं उपचार के स्तर में सुधार लाने के लिए ‘टीबी फ्री ब्लॉक पटौदी’ का लॉन्च किया गया है।

‘टीबी फ्री ब्लॉक पटौदी’ अगले 2 सालों में पटौदी ब्लॉक के 142 गांवों में 6 लाख आबादी की स्क्रीनिंग करेगा। मेदांता के स्वयंसेवी एवं आशा कर्मचारी, ग्रामीण स्वास्थ्य कर्मियों के सहयोग से घर-घर जाकर उन लोगों की स्क्रीनिंग करेंगे, जिनमें टीबी की संभावना है। जिन लोगों को कफ़ के लिए पॉज़िटिव पाया जाएगा, उन्हें कैम्प में छाती के एक्सरे, स्पुटम जांच एवं जीन एक्सर्प्ट सुविधाओं के लिए बुलाया जाएगा, ये सुविधाएं एक मोबाइल वैन में उपलब्ध कराई जाएंगी। निदान की पुष्टि एक ही दिन में हो जाएगी और इसके परिणाम एक विशेष मोबाइल ऐप्लीकेशन पर उपलब्ध होंगे, जिसे मेदान्ता की इन-हाउस टीम द्वारा विकसित किया गया है।
डॉ नरेश त्रेहन, चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर, मेदान्ता ने कहा, ‘‘हर साल भारत में टीबी के 850000 से अधिक मामलों का न तो निदान होता है और न ही उपचार होता है, यह देश के लिए एक बड़ी चुनौती है। जांच और निदान रोग के प्रबंधन एवं रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, वर्तमान में बड़ी संख्या में मरीज़ों का निदान नहीं हो पाता, जिसके चलते देश में टीबी का बोझ बढ़ता चला जा रहा है। निजी क्षेत्र टीबी की रोकथाम एवं उपचार द्वारा इसके उन्मूलन में महत्वपूर्ण भूकिा निभा सकता है। ‘टीबी फ्री ब्लॉक पटौदी’ एक संयुक्त पहल है तथा हरियाणा को टीबी मुक्त बनाने की दिशा में उल्लेखनीय प्रयास है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *