Thursday, December 12, 2019
Home > राष्ट्रीय > स्कूल के प्रधानाध्यापकों और शिक्षकों के लिए एजुकेशनल इनिशिएटिव्स करेगा सम्मेलन का आयोजन

स्कूल के प्रधानाध्यापकों और शिक्षकों के लिए एजुकेशनल इनिशिएटिव्स करेगा सम्मेलन का आयोजन

संवाद (दिल्ली) पी आई एस ए रैंकिंग में सुधार के लिए भारतीय छात्रों को कौशल और वैचारिक शिक्षा का मजबूत आधार बनाने की आवश्यकता है। इस जरूरत की पहचान के बाद भारत का पसंदीदा शैक्षणिक समाधान प्रदाता एजुकेशनल इनिशिएटिव्स (ईआई) 27 नवंबर, 2019 को चंडीगढ़ में सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है। स्कूल के प्रधानाध्यापकों और शिक्षकों को लक्षित करते हुए यह सम्मेलन पी आई एस ए 2021 पर केंद्रित रहेगा। इसमें यह पता लगाने की कोशिश की जाएगी कि पी आई एस ए के लिए तैयार होने के लिए अच्छे प्रश्न पूछने की ताकत का लाभ कैसे उठाया जा सकता है।

अपने विश्व-स्तरीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त छात्रों के मूल्यांकन और बेंचमार्किंग कार्यक्रमों- शिक्षक मूल्यांकन और जरूरतों को पहचानने के साथ ही परीक्षाओं व शैक्षणिक प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करते हुए  एजुकेशनल इनिशिएटिव्स कक्षा 6-9 के छात्रों को पी आई एस ए के लिए तैयार होने में मदद कर सकता है।

एजुकेशनल इनिशिएटिव्स के ए एस एस ई टी (असेट) टेस्ट को यू ए ई के शिक्षा मंत्रालय और दुबई के ज्ञान व मानव विकास प्राधिकारी ने देश के सभी भारतीय स्कूलों के लिए अनुमोदित किया है। यह स्कूलों की बेंचमार्किंग के लिए इस्तेमाल हो रहा है और स्कूल साल-दर-साल कैसे आगे बढ़ रहे हैं यह मूल्यांकन करने में सरकार की मदद कर रहा है। ताकि वे यह सुनिश्चित कर सके कि आवश्यक हस्तक्षेप कर सकें कि स्कूल पी आई एस ए 2021 में शीर्ष 20 देशों में पहुंचने के देश के लक्ष्य को हासिल करने के धावन पथ पर हैं।

ए एस एस ई टी (असेट) के अलावा एजुकेशनल इनिशिएटिव्स का डेटा-चालिक रचनात्मक मूल्यांकन कार्यक्रम डिटेल्ड असेसमेंट (डीए) छात्रों के संपूर्ण प्रदर्शन को बेहतर बनाने में मदद करता है। शिक्षक किसी विषय विशेष के लिए डिटेल्ड असेसमेंट (विस्तृत मूल्यांकन) टेस्ट लेते हैं, तो उन्हें सीखने में आ रही दिक्कतों की पहचान के लिए सीखने में आ रही अड़चनों पर रिपोर्ट प्रदान की जाती है। अगले विषय पर जाने से पहले इन अंतरालों को दूर करना होता है। शिक्षकों को फिर अभ्यास कार्यपत्रक और पाठ योजनाएं दी जाती हैं। स्कूल प्रबंधन को तत्काल कार्रवाई योग्य रिपोर्ट दी जाती हैं जो छात्रों के सीखने के स्तर को समझने में बैरोमीटर का काम करती है। सीखने के अंतराल दूर करने और छात्रों की वैचारिक समझ को मजबूत करने के लिए एजुकेशनल इनिशिएटिव्स के ए आई – आधारित व्यक्तिगत, अनुकूलित सीखने के साधन माइंडस्पार्क का लाभ उठा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *