Tuesday, April 7, 2020
Home > ब्यापार > इमटेक्स  फॉर्मिंग 2020 और टूलटेक 2020 का उद्घाटन

इमटेक्स  फॉर्मिंग 2020 और टूलटेक 2020 का उद्घाटन

  बेंगलुरु के बेंगलुरु इंटरनेशनल एक्जिबिशन सेंटर (बीआईईसी) में इंडियन मशीन टूल मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन  द्वारा आयोजित इमटेक्स फॉर्मिंग 2020 और टूलटेक 2020 का उद्घाटन किया गया। यह इमटेक्स फॉर्मिंग की अब तक की सबसे बड़ी प्रदर्शनी है।
33 हजार वर्गमीटर में लगाई गई इस प्रदर्शनी में 26 देशों के 602 एग्जिबिटर्स हिस्सा ले रहे हैं। इमटेक्स फॉर्मिंग 2020 और टूलटेक 2020 प्रदर्शनी ने एक बार फिर ग्लोबल स्तर पर मैन्युफैक्चरिंग से जुड़े तमाम लोगों को धातुनिर्माण से संबंधित अपना ज्ञान साझा करने और कारोबारी लेन-देन के लिए एक कॉमन प्लेटफॉर्म प्रदान किया है।

धातु निर्माण से जुड़ी तकनीक जैसे हाईस्पीड लेजर कटिंग मशीन, शीट मेटलवर्किंग, वेल्डिंग और जॉइनिंग, प्रेसेज, मेट्रोलॉजी, सीएडी और सीएएम जैसी प्रक्रियाओं का प्रदर्शन मशीनी उपकरण बनाने वाले निर्माताओं की ओर से लाइव किया गया, जिससे इनका उपयोग करने वाली इंडस्ट्री को सोच-समझ कर फैसला लेने में मदद मिल सके। मेटल फॉर्मिंग इंडस्ट्री का फोकस आधुनिक तकनीक से मशीनों के निर्माण और इंडस्ट्री 4.0 पर है।

इस प्रदर्शनी में कई समानांतर इवेंट्स भी आयोजित किए गए :
• आई 2 एकेडेमिया पैवेलियन (इसमें 50 से ज्यादा शैक्षिक संस्थान हिस्सा ले रहे हैं, जिसमें आईआईटी भी शामिल है)
• इंटरनेशनल बायर्स-सेलर्स मीट-(इसमें 9 देशों के 19 विदेशी खरीदार हिस्सा लेंगे। इन 9 देशों में मिस्र, फ्रांस, ग्वाआटेमाला, ईरान, केन्या , रूस, श्रीलंका, संयुक्त अरब अमीरात और उजबेकिस्तान शामिल हैं।)
• ग्रीन स्टॉल को प्रोत्साहित करने के लिए इको डिजाइन अवार्ड प्रदान किए गए (इसमें 63 देशों ने हिस्सा लिया)
• मैन्युफैक्चरिंग क्विज कॉन्टेस्ट ( यह निर्माण संबंधी तकनीक पर इंटर क़ॉलेज क्विज कॉम्पिटिशन है)
• जागृति

आईएमटीएमए में एक्जिबिशंस विभाग के चेयरमैन श्री जमशेद एन. गोदरेज ने उद्घाटन समारोह में स्वागत भाषण के दौरान कहा, “देश में अर्थव्यवस्था के चुनौतीपूर्ण माहौल के बावजूद यह हमारा अब तक का सबसे बड़ा इमटेक्स फॉर्मिंग इवेंट है। मेरा मानना है कि ऑटोमोबाइल या वाहनों की बिक्री पूरी दुनिया में कम हुई है। यह एक वैश्विक घटना है और हमें इसे समझने की जरूरत है।

इमटेक्स फॉर्मिंग 2020 और टूलटेक 2020 के उद्घाटन समारोह में आईएमटीएमए के अध्यक्ष श्री इंद्रदेव बाबू ने कहा, हम नए दशक की शुरुआत की दहलीज पर खड़े है। भारत सरकार की ओर से निर्माण क्षेत्र को मजबूती के साथ हम माहौल में सकारात्मक असर देख रहे हैं। केंद्र सरकार की ओर से उठाए गए कुछ कदमो में आधारभूत ढांचा विकसित करने के लिए 102 लाख करोड़ रुपये का आवंटन शामिल है। इसके अलावा कंपनियों के लिए बेस टैक्स में कटौती की गई और इससे जुड़ी अन्य नीतियों को लागू किया गया। ताकि कारोबार करने में आसानी लाई जा सके और विकास को नई रफ्तार मिले।

उद्घाटन समारोह में आईएमटीएमए की ओर से प्रकाशित रिपोर्ट, इंडियन मेटल फॉर्मिंग मशीनरी की समग्र रिपोर्ट, में धातु निर्माण के क्षेत्र में मौजूदा दौर में मांग में रहने वाले ट्रेंड को उभारा है। इस अवसर पर इस रिपोर्ट के साथ एग्जिबीशन कैटलॉग भी रिलीज किया गया। विनोद दोषी की याद में शुरू किया आईएमटीएमए का प्रीमियर आउटस्टैंडिंग एंटरप्रेन्योर पुरस्कार त्रिशूल मशीन टूल्स के प्रबंध निदेशक सी. एस. शिवा शंकरैया को दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *