Monday, July 13, 2020
Home > ब्यापार > ओडिशा के पर्यटन विभाग ने भारत के सर्वश्रेष्ठ गुप्त और अनजाने पर्यटन स्थलों की थीम पर रायपुर में रोडशो किया

ओडिशा के पर्यटन विभाग ने भारत के सर्वश्रेष्ठ गुप्त और अनजाने पर्यटन स्थलों की थीम पर रायपुर में रोडशो किया

संवाद (रायपुर)ओडिशा पर्यटन विभाग के निदेशक और आईएएस श्री सचिन जादव ने रायपुर में भारतीय वाणिज्य और उद्योग महासंघ (फिक्की) के सहयोग से राज्य पर्यटन विभाग से संबंधित विभिन्न और अनोखी विशेषताओं से लोगों को रूबरू कराने के लिए आयोजित  रोडशो में प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया।
ओडिशा पर्यटन विभाग ने पर्यटन को बढ़ावा देने के मौजूदा अभियान के तहत भारत के 9 शहरों में सफलतापूर्वक रोड शो का आयोजन किया है। इसके तहत ट्रैवल एजेंट्स के साथ बिजनेस 2 बिजनेस नेटवर्किंग मीटिंग आयोजित की गई। इसके साथ ही ओडिशा के पर्यटन और मेजबानी क्षेत्र में प्रवेश करने के इच्छुक निवेशकों और ब्रांड्स के बीच चुनिंदा बैठकें भी आयोजित की गईं।
पर्यटन विभाग के निदेशक ने कई क्षेत्रों में ओडिशा के पर्यटन स्थलों से लोगों को रूबरू कराते हुए विस्तृत प्रजेंटेशन से कार्यक्रम की शुरुआत की। इसमें राज्य पर्यटन के विभिन्न क्षेत्रों, जैसे हेरिटेज टूरिज्म, इको टूरिज्म, एथनिक टूरिज्म और आध्यात्मिक पर्यटन से लोगों को रूबरू कराया गया। ओडिशा पर्यटन के विभिन्न रूपों पर पेश की गई इस प्रस्तुति में सबसे महत्वपूर्ण हाल ही में लॉन्च किया गया आकर्षक कैंपिंग प्रोजेक्ट मरीन ड्राइव इको रिट्रीट था। मरीन ड्राइव इको रिट्रीट पूर्वी भारत का सबसे बड़ा ग्लैंपिंग (ग्लैमरस कैंपिंग) प्रोजेक्ट हैं, जिसमें पर्यटकों के ठहरने के लिए विलासितापूर्ण और आकर्षक सुविधाएं दी गई हैं। इसके अतिरिक्त वहां भविष्य में होने वाली रोमांचक गतिविधियों और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी ब्यौरा पेश किया गया।
जादव ने कहा, ओडिशा धीरे-धीरे सबसे जीवंत और जिंदादिल स्पोटर्स डेस्टिनेशन के रूप में उभरता जा रहा है। यह राज्य की ग्लोबल ब्रैंड इमेज को चमकाने का एक प्रमुख कारक है। इसी से राज्य में विदेशी पर्यटकों का जमावड़ा भी लगने लगा है। हम इकोटूरिज्म, जनजातीय आबादी से संबंधित पारंपरिक और शिल्पकला से संबंधित पर्यटन पर विशेष रूप से फोकस कर रहे हैं। इसके साथ ही कई नई श्रेणियों जैसे विरासत स्थलों के पास पर्यटकों के ठहरने का प्रबंध भी किया जा रहा है। एडवेंचर टूरिज्म पर खासतौर से ध्यान दिया जा रहा है, जिससे राज्य में घूमने आए पर्यटक अब तक ओडिशा के अनदेखे और अनजाने पर्यटन स्थलों पर जाकर मौज-मस्ती कर सके और एक विशेष अनुभव हासिल कर सके। इसके साथ ही ओडिशा के लोकप्रिय पर्यटन स्थलों जैसे पुरी और कोणार्क को भी नए अंदाज में देखने का आनंद उठा सकें। पर्यटन विभाग की प्रस्तुति ने ओडिशा की पर्यटन क्षमता को निखारने के लिए कई पहलुओं पर प्रकाश डाला। प्रस्तुति की शुरुआत ओडिशा के पर्यटन स्थलों से की गई। वहां की जैवविविधता, ऐतिहासिक महत्वपूर्ण स्मारकों और वहां की अनोखी शिल्प और कला को पेश किया गया। ओडिशा सरकार ने पर्यटन स्थल की सुविधाओं को बढ़ाने के लिए भी अपनी सहमति दे दी है। ओडिशा सरकार ने कैंपिंग टूरिज्म और हाउस बोट टूरिज्म को शुरू करने की हरी झंडी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *