Monday, July 13, 2020
Home > राष्ट्रीय > जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी ने आत्म-निरीक्षण (सेल्फ-इंट्रोस्पेक्षन) पर ऑनलाइन इंटरैक्टिव सत्र आयोजित किया

जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी ने आत्म-निरीक्षण (सेल्फ-इंट्रोस्पेक्षन) पर ऑनलाइन इंटरैक्टिव सत्र आयोजित किया

संवाददाता (दिल्ली) भारत के प्रमुख डिजाइन संस्थानों में से एक, जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी कोविड 19 महामारी के कारण सामने आने वाली चुनौतियों का समाधान करने के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत ऑनलाइन इंटरएक्टिव सत्रों की एक श्रृंखला जेडी टॉक्स आयोजित कर रहा है। वार्ता की श्रृंखला को अंजू मोदी, रीता गंगवानी, रीना ढाका, फराह खान अली, जमाल शेख, नंदिनी भल्ला, और रंजॉय गोगोई जैसे विभिन्न उद्योग विशेषज्ञों ने संबोधित किया।

हाल ही में एक सत्र आत्म-अलगाव (सेल्फ-आईसोलेशन) और सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) और मानसिक स्वास्थ्य पर उनके प्रभाव पर चर्चा करने के लिए आयोजित किया गया था। विशेषज्ञों ने क्वारंटीन के विभिन्न पहलुओं और अनिश्चितता को स्वीकार करनेे के महत्व और छात्रों की क्षमताओं को बढ़ाने वाली चीजों पर ध्यान केंद्रित करने के बारे में बात की। सत्र के बाद, विशेषज्ञों ने छात्रों को एक ऐसी दिनचर्या बनाने में मदद की जिसमें मानसिक स्वास्थ्य को प्राथमिकता दी गई हो। उन्होंने छात्रों को सलाह दी कि वे क्वारंटीन अवधि के दौरान समय का सदुपयोग कैसे करें और अपने जीवन में स्थिरता, आराम और खुशी कैसे लाएं।

इस पहल के बारे में बात करते हुए, जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी की निदेषक सुश्री अक्षरा दलाल ने कहा, मुझे बेहद खुशी है कि हमारी पहल से हमारे छात्रों और दर्शकों में एकरूपता और आत्मनिरीक्षण की भावना आती है। इस प्रतिकूल स्थिति में, हम उज्जवल पक्ष को देखते हैं और इसे अपनी रचनात्मक प्रतिभाओं का पता लगाने के अवसर के रूप में स्वीकार करते हैं। एक डिजाइन संस्थान के रूप में, हम हमेशा अपने जीवन के रचनात्मक और सार्थक पक्ष की खोज करने में विश्वास करते हैं। जेडी टॉक्स एक तरह का ऐसा अभियान है जो मानसिक तनाव का सामना करने वाले लोगों को विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में उससे निपटने और उनकी क्षमताओं को मजबूत करने में मदद करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *