Tuesday, July 7, 2020
Home > राष्ट्रीय > Bihar > बारिश से विधवा महिला का गिरा घर, हो गई बेघर

बारिश से विधवा महिला का गिरा घर, हो गई बेघर

विवेक चौबे (गढ़वा) सरकार द्वारा गरीबों के प्रति कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही हैं, किंतु योजनाओं का लाभ तो गरीबों, असमर्थों व जरूरतमंदों को छोड़कर शेष लोग ले रहे हैं। हम बात कर रहे हैं, कांडी प्रखण्ड क्षेत्र अंतर्गत गाड़ाखुर्द पंचायत के नारायणपुर गांव की। उक्त गांव निवासी- उषा कुवंर के मिट्टी का घर तेज हवा के साथ हुई बारिश से गुरुवार को ध्वस्त हो गया। ध्वस्त हुए मिट्टी के घर के मलवा को ग्रामीणों के सहयोग से मदद के रूप में हटाया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त विधवा महिला- उषा कुंवर का पति- बिगू चौधरी की मौत तकरीबन 10 वर्ष पूर्व ही हो गयी है। दुर्भाग्य यह कि उक्त महिला के एक भी पुत्र नहीं। केवल 5 लड़कियां ही हैं। ग्रामीणों की मदद से जैसे-तैसे दो लड़कियों की शादी तो हो गयी, किन्तु अब भी 3 शेष हैं। उषा कुवंर को रहने के लिए मिट्टी का घर यानी एक ढाबा व एक कमरा था। बारिश ने उक्त महिला को बेघर कर दिया। इसकी जानकारी पंचायत मुखिया प्रतिनिधि- नीरज सिंह को हुई। वे  शुक्रवार को पहुंचकर उक्त महिला के घर का नजारा देख सन्न रह गए। वास्तव में महिला अब बेघर हो चुकी है। श्री सिंह ने मदद के रूप में खूंटे-डंडे गड़वाकर उक्त महिला को रहने के लिए छावनी के रूप में तत्काल करकट देने का आश्वासन दिया । साथ ही उन्होंने काशी वैगरह से चारों ओर से घेरावाने को भी कहा। अब सवाल यह कि इस पंचायत में असमर्थ, गरीबों व जरूरतमंदों को सरकारी आवास नहीं मिल रहा है। इस पंचायत में समर्थ लोगों को ही आवास मिल रहा है। उक्त सभी विषयों की जानकारी देते हुए पंचायत मुखिया प्रतिनिधि- नीरज सिंह ने कहा कि विश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र के वर्तमान विधायक- रामचंद्र चंद्रवंशी के कार्यकर्ताओं को इस पंचायत में आवास मिल रहा है, जो निश्चित रूप से समर्थ हैं। उन्होंने उदाहरण के लिए चंद्रवंशी के समर्थकों व कार्यर्ताओं के सम्बंध में बताते हुए कहा कि लालू साह की पत्नी- उमा देवी, जयराम साह की पत्नी- कुवंरिया देवी, ऊदल पासवान की पत्नी- परमिला देवी, अखलेश्वर चौधरी की पत्नी- जिरवा देवी सहित अन्य के नाम से आवास मिला है। श्री सिंह ने बताया कि अम्बेडकर आवास तो केवल विधवा महिला को ही सरकार द्वारा दिए जाने का प्रावधान है। जबकि सारे प्रावधान व नियम को बाजुओं में रखकर चंद्रवंशी के उक्त समर्थकों, कार्यकर्ताओं व समर्थों को अम्बेडकर आवास मिल रहा है। उक्त महिला के गिरे घर के सम्बंध में मुखिया प्रतिनिधि- नीरज सिंह के द्वारा प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को सूचना दी गयी। खबर लिखे जाने तक प्रखण्ड विकास पदाधिकारी नहीं पहुंच सके थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *