Monday, August 3, 2020
Home > ब्यापार > टाटापावर-डीडीएल ने उपभोक्ताओं से बिजली की तारों और अन्य इंस्टालेशन के आसपास पतंगबाजी न करने की सलाह जारी की

टाटापावर-डीडीएल ने उपभोक्ताओं से बिजली की तारों और अन्य इंस्टालेशन के आसपास पतंगबाजी न करने की सलाह जारी की

संवाददाता (दिल्ली) टाटापावर दिल्ली डिस्ट्रिब्यूशन लिमिटेड विद्युत वितरण क्षेत्र की एक प्रमुख पावर यूटिलिटी है, जो उत्तरी दिल्ली में अपने करीब 17 लाख रजिस्टर्ड उपभोक्ताओं की मदद से 70 लाख निवासियों तक बाधा रहित बिजली की आपूर्ति करती है। कंपनी अपने उपभोक्ताओं के लिए समय-समय पर विभिन्न कार्यकर्मों के माध्यम से सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाती है।नयी टेक्नोलॉजी से लेकर बेहतरीन कार्य पद्धतियों को अपनाना इस कंपनी के विज़न में शामिल है। इसी क्रम में,स्वतंत्रता दिवस, रक्षाबंधन जैसे त्यौहारी सीजन के मद्देनज़र टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रीब्यूशन लिमिटेड (टाटापावर-डीडीएल) ने अपने सभी उपभोक्ताओं को सावधानी बनाये रखने की सलाह दी है।
इस मौसम में पतंग उड़ाने का चलन है और इसे देखते हुए टाटापावर-डीडीएल ने उपभोक्ताओं से बिजली की तारों तथा बिजली के अन्य नेटवर्क के नज़दीक पतंगबाजी ना करने की चेतावनी जारी की है।इसका मकसद बिजली सप्लाई में किसी भी प्रकार की बाधा और करंट लगने से होने वाली दुर्घटनाओं से उनका बचाव करना है।
पतंगबाजी में उपयोग किया जाने वाला मेटल कोटेड मांझा बिजली का सुचालक होता है और खतरनाक साबित हो सकता है।कई बार तो उसकी वजह से बिजली का करंट लगने पर जान का जोखिम भी हो सकता है।हर साल पतंगबाजी में लापरवाही के चलते बिजली नेटवर्क को क्षति पहुंचने और उनकी वजह से आपूर्ति में रुकावट आने की घटनाएं होती हैं जिनकी वजह से दिल्ली में बिजली उपभोक्ताओं को असुविधा का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा, लापरवाही की वजह से कई बार बिजली का करंट लगने और खासतौर से बच्चों के इससे प्रभावित होने के मामले सामने आते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *