Wednesday, September 30, 2020
Home > ब्यापार > Informa Markets in India ने सुपर सितम्बर – वर्चुअल B2B सेलिब्रेशन लांच करने की घोषणा की

Informa Markets in India ने सुपर सितम्बर – वर्चुअल B2B सेलिब्रेशन लांच करने की घोषणा की

संवाददाता (दिल्ली) भारत की प्रमुख B2B इवेंट्स आयोजनकर्ता Informa Markets in India ने सुपर सितम्बर – वर्चुअल B2B सेलिब्रेशन को लांच करने की घोषणा की है, जो कि सितम्बर 2020 महीने में 6 प्रमुख उद्योग क्षेत्रों में 6 डिजिटल प्रदर्शनियों की एक प्रभावशाली श्रृंखला है। इसके साथ इसी महीने में कई कॉन्फ्रेन्स, ट्रेनिंग, वेबिनार और अवार्ड्‌स के भी आयोजन किए जाएंगे।
वर्चुअल ट्रेड शो की तारीखें, और उनसे संबंधित सेक्टर नीचे दिए गए हैं:
• Renewable Energy India ई-एक्सपो: 2-3 सितम्बर (हरित ऊर्जा)
• InnoPack Pharma Confex: 3-4 सितम्बर (पैकेजिंग)
• OSH India वर्चुअल एक्सपो: 17-18 सितम्बर (व्यावसायिक सुरक्षा और स्वास्थ्य)
• IFSEC Indian वर्चुअल एक्सपो: 17-18 सितम्बर (सुरक्षा और निगरानी)
• SATTE GenX: 23 सितम्बर (यात्रा और पर्यटन)
• PharmaLytica वर्चुअल एक्सपो कनेक्ट: 30 सितम्बर-2 अक्टूबर (फार्मा)।
निम्न कॉन्फ्रेन्स भी इसी महीने में आयोजन हेतु निर्धारित हैं:
• Future Packet Transport Network: 18 सितम्बर
• Pharma Supply Chain: 17-18 सितम्बर
• Biopharma Conclave: 24-25 सितम्बर
• Cleaning Validation: 29-30 सितम्बर
वर्चुअल B2B सेलिब्रेशन से संबंधित समुदायों और व्यावसायिकों को लॉकडाउन की सीमाओं से उबरने, कारोबारी लक्ष्य हासिल करने, और अर्थव्यवस्था को पटरी पर पुनः वापस लाने के प्रयास में सहयोग करने हेतु प्रभावशाली सहयोग प्रदान करन में मदद मिलेगी।
जहां Informa Markets in India सुरक्षा दिशानिर्देशों और प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करते हुए वर्ष के आखिर में अपने ब्लॉकबस्टर फिजिकल शो आयोजित करने के लिए तत्पर है, वहीं सितम्बर में डिजिटल बिजनेस सेलिब्रेशन से विभिन्न उद्योग अपने महत्वपूर्ण व्यापार वार्तालाप, सूचनाओं के आदान-प्रदान और ट्रेनिंग जारी रखने में मदद मिलेगी। सरकार के ‘डिजिटल इंडिया’ अभियान की 5 वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित ‘सुपर सितम्बर’ MSME की धारणीयता, विद्युत वितरण, स्वास्थ्य, और ग्रामीण रोजगार व अन्य को प्राथमिकता देने के माध्यम से एक आत्मनिर्भर भारत के निर्माण हेतु ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ की
COVID-19 प्रेरक पहल का समर्थन करता है।
सुपर सितम्बर – वर्चुअल B2B सेलिब्रेशन का विज़न क्यों महत्त्वपूर्ण है:
• वैश्विक GDP में अनुमानित गिरावट 7.6% है। (2008-9 की वैश्विक मंदी इसकी तुलना में कम 1.79% थी)।
• India INC में, जुलाई-सितंबर 2020 के लिए ऑप्टिमिज्म इंडेक्स बिक्री मात्रा, शुद्ध लाभ, बिक्री मूल्य, नए आर्डर, इन्वेन्टरी और रोजगार में गिरावट के साथ सभी 6 सूचकांकों पर लगभग 35% के रिकॉर्ड निचले स्तर पर रहा।
• उद्योग जगत का अनुमान है कि बिजनेस मॉडल में संशोधन के बिना, भारत के प्रमुख ब्रांडों के ब्रांड मूल्य में 15% तक की गिरावट आ सकती है।
• अपने फिजिकल फार्मेट को स्थगित करने के लिए विवश प्रदर्शनी उद्योग के कारण, व्यापार के INR 3 लाख करोड़ का बिजनेस प्रभावित हुआ है, जिसमें से INR 1.25 लाख करोड़ का नुकसान मार्च 2020 से अब तक प्रदर्शनियों को आयोजित न किए जा सकने के कारण राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को हुआ है।
• 15 लाख आजीविकाएं समाप्त हो गईं।
अर्थव्यवस्था के उत्प्रेरक के रूप में और अपने हितधारकों की सिफारिश के अनुसार, प्रदर्शनी उद्योग अपार चुनौतियों का सामना करते हुए भी इस नए मानक को अपना रहा है। COVID-19 के कारण दुनिया भर में और भारत में उद्योग जगत में आई रूकावट को देखते हुए, अपने लीडरशिप विज़न को प्रेरित करना और उद्योग जगत की ज़रूरतें पूरी करने और अर्थव्यवस्था के पुनर्निर्माण के लिए अपनी रूपांतरणकारी डिजिटल सेवाओं का उपयोग करना Informa Markets in India का ध्येय है।
वर्चुअल स्पेस में अगुवाई: इसका क्या महत्त्व है
अपनी मातृ कंपनी Informa Plc द्वारा किए गए महत्त्वपूर्ण निवेशों के साथ वैश्विक स्तर पर डिजिटल स्पेस में सशक्त Informa Markets in India ने 25 मार्च को राष्ट्रीय लॉकडाउन के बाद जल्दी ही अपने डिजिटल मिशन पर जोर दिया। कम समय में तत्परतापूर्वक कार्य करते हुए इसने IFSEC वर्चुअल एक्सपो के रूप में अपना पहला वर्चुअल एक्सपो जून में आयोजित किया, जिसके बाद व्यावसायिक स्वास्थ्य और सुरक्षा, नवीकरणीय ऊर्जा, सौंदर्य और प्रसाधन सामग्री, और रत्न एवं आभूषण उद्योगों के लिए वर्चुअल एक्सपो आयोजित किए गए। डिजिटल कार्यक्रमों की इसकी प्रभावशाली श्रृंखला में ऑनलाइन कॉन्फ्रेन्स की आकर्षक सीरीज़ भी शामिल की गई।
• COVID-19 के कारण रूकावट के बाद विश्वस्तर पर Informa Markets ने 25 से अधिक वर्चुअल कार्यक्रम सफलतापूर्वक आयोजित किए हैं।
• Informa Markets के एक ग्राहक सर्वेक्षण में पाया गया है कि APAC देशों में 60% ग्राहक पारंपरिक कार्यक्रमों के साथ डिजिटल सक्षम प्लेटफार्मों को वरीयता दे रहे हैं।
• पारंपरिक प्लेटफार्मों: हाइब्रिड प्लेटफार्मों का बाज़ार द्वारा अनुमानित मूल्य संवर्धन अनुपात 1: 1.5 है।
• एशियाई देशों में भारत खरीदारों और विक्रेताओं के बीच लाइव या ऑनसाइट व्यवहार को प्राथमिकता देने में अग्रणी है।
• जून से Informa Markets in India द्वारा आयोजित वर्चुअल ट्रेड शो के माध्यम से लगभग 15,000 लोगों को ई-कार्यक्रम में सम्मिलित किया गया है जिनमें प्रदर्शनीकर्ता, औद्योगिक अग्रणी, एसोसिएशन के अध्यक्ष, उद्यमी तथा पेशेवर शामिल हैं।
सुपर सितम्बर – वर्चुअल B2B सेलिब्रेशन को पिछले कुछ महीनों के दौरान इस प्लेटफार्म में महत्त्वपूर्ण सीखों के साथ और गुणवत्ता, समस्या समाधान क्षमता, निर्बाध ग्राहक अनुभव, सुरक्षा, गति और नवप्रवर्तन पर पूरा फोकस करते हुए आयोजित किया जा रहा है।
सुपर सितम्बर वर्चुअल B2B सेलिब्रेशन की की घोषणा के अवसर पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए Mr. Yogesh Mudras, मैनेजिंग डायरेक्टर, Informa Markets in India, ने कहा कि, “हमें अपने प्रकार का अद्वितीय वर्चुअल B2B सेलिब्रेशन पेश करते हुए काफी प्रसन्नता है। एक संगठन के रूप में, हम 2011 में अपना पहला ई-एक्सपो InterOp आयोजित करने के बाद से वर्चुअल एक्सपो के क्षेत्र में अगुवाई कर रहे हैं। इस क्षेत्र में हमारी विश्वसनीयता और गौरवशाली विरासत को देखते हुए वर्चुअल B2B सेलिब्रेशन उन संभावनाओं का परिणाम है जो विस्तार, क्षमता, और प्रयासों के संदर्भ में हमने उत्पन्न की हैं, और सितम्बर की शुरुआत से अनलॉक 4.0 के साथ इसकी शुरुआत होगी। इसमें कोई संदेह नहीं है, कि यह सेलिब्रेशन अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करने में काफी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस महत्त्वपूर्ण निर्णायक मोड़ पर ‘आत्मनिर्भरता’ को बढ़ावा देना, हमारे देश के लिए महत्त्वपूर्ण है, और हम अनेक व्यावसायिकों को सक्षम बनाते हुए तथा सेक्टर के प्रमुख विशेषज्ञों, ब्रांडों, उपक्रमों, सरकारी अधिकारियों और पेशेवरों को इस महत्त्वपूर्ण समय बिंदु पर एक मंच पर लाते हुए ज्ञान की साझेदारी संभव बनाते हुए ऐसा कर रहे हैं। हालांकि इसके संकेत हैं कि भारत का टर्नअराउंड धीमी U-आकृति या W-आकृति की गति से हो सकता है, लेकिन हमें उम्मीद है कि हम सबसे उपयुक्त V-आकृति की दिशा में आर्थिक पुनर्विकास की दिशा में कार्य करते हुए व्यावसायिक मनोबल बढ़ाने में मदद करेंगे जिसके साथ सार्वजनिक स्वास्थ्य में सुधार के रूप में भी ग्राफ प्रगति करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *