Thursday, January 28, 2021
Home > ब्यापार > देश के पहले हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर के निर्माण के लिए  एलएंडटी कंस्ट्रक्शन को मिला (’मेगा) कॉन्ट्रैक्ट

देश के पहले हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर के निर्माण के लिए  एलएंडटी कंस्ट्रक्शन को मिला (’मेगा) कॉन्ट्रैक्ट

 संवाददाता (दिल्ली) एलएंडटी की निर्माण शाखा ने अपने हैवी सिविल इंफ्रास्ट्रक्चर कारोबार के लिए नेशनल हाई-स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एनएचआरसीएल) की ओर से मेगा ऑर्डर हासिल कर लिया है। यह देश का अब तक का सबसे बड़ा ईपीसी अनुबंध है। इसके तहत 237.1 किलोमीटर लंबी एमएएचएसआर – सी 4 पैकेज का निर्माण किया जाएगा। अपनी तरह का पहला यह पैकेज मुंबई अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल परियोजना का हिस्सा है।
एमएएचएसआर – सी 4 पैकेज के दायरे में मार्ग सेतु, स्टेशन, प्रमुख नदी पुल, डिपो और अन्य सहायक कार्यों का निर्माण शामिल है। लगभग 508 किमी लंबी मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल परियोजना, जिसे एमएएचएसआर बुलेट ट्रेन परियोजना भी कहा जाता है, महाराष्ट्र राज्य में 155.76 किलोमीटर, केंद्रशासित प्रदेश दादरा और नगर हवेली में 4.3 किलोमीटर और गुजरात राज्य में 348.04 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। इस परियोजना के मार्ग में 12 स्टेशन होंगे। काम पूरा होने के बाद हाई-स्पीड रेल 320 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से संचालित होगी, यह ट्रेन सीमित स्टॉप के साथ पूरी दूरी को लगभग 2 घंटे में और सभी स्टॉप के साथ 3 घंटे में कवर करेगी।
होल टाइम डायरेक्टर और सीनियर एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसीडेंट (सिविल इन्फ्रास्ट्रक्चर) श्री एस वी देसाई ने कहा, ‘‘यह अब तक का सबसे बड़ा ईपीसी आदेश है जो एलएंडटी ने अपने इतिहास में हासिल किया है। इस तरह की एक विशाल और जटिल बुनियादी ढांचा परियोजना को अंजाम देने के लिए, हम अत्याधुनिक निर्माण विधियों और व्यापक डिजिटल टैक्नोलाॅजी का इस्तेमाल करेंगे।‘‘
पैकेज सी 4 कुल लंबाई के 46.6 प्रतिशत हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है, जो इसे सभी पैकेजों में सबसे लंबा बनाता है। यह महाराष्ट्र-गुजरात सीमा पर जरोली ग्राम से वड़ोदरा स्टेशन तक वापी, बिलिमोरा, सूरत और भरुच 4 स्टेशनों तक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *