Home > mayur sambad (Page 150)

वित्तीय वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही के लिए एस्टर डीएम हेल्थकेयर का राजस्व 14 फीसदी बढ़कर 2,087 करोड़ रुपए पर पहुंचा

  : कई जीसीसी राज्यों में सबसे बड़ी निजी स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं में से एक और भारत में एक उभरती हुई स्वास्थ्य सेवा कंपनी एस्टर डीएम हेल्थकेयर ने 30 सितंबर, 2019 की तिमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की आज घोषणा की। विविधतापूर्ण स्वास्थ्य सेवा ऑफर और बढ़ी हुई क्षमता के

Read More

फेडको ने स्मार्ट मीटर्स लगाने के लिए ऑस्ट्रेलियाई कंपनी विलेज एनर्जी के साथ समझौता-पत्र पर हस्ताक्षर किया

  फीडबैक एनर्जी डिस्ट्रिब्यूशन कंपनी (फेडको) ने ऑस्ट्रेलियाई कंपनी ‘विलेज एनर्जी’ के साथ एक समझौता-पत्र पर हस्ताक्षर किया है। इस समझौते के तहत, विलेज एनर्जी फेडको के परिचालन वाले क्षेत्रों में स्मार्ट मीटर्स लगायेगा और डिमांड-साइड मैनेजमेंट (डीएसएम) का कार्य करेगा। समझौते के अंतर्गत, विलेज एनर्जी फेडको के परिचालन वाले ग्रामीण

Read More

शिखर धवन ने स्टांसबीम स्ट्राईकर लाॅन्च किया

संवाददाता (दिल्ली) स्टार इंडियन ओपनर, शिखर धवन ने आज दिल्ली में स्टांसबीम का फ्लैगशिप उत्पाद एवं एक स्मार्ट क्रिकेट बैट सेंसर, स्टांसबीम स्ट्राईकर लाॅन्च किया। स्टांसबीम स्ट्राईकर क्रिकेट में इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स (आईओटी) डिवाईस के रूप में टेक्नाॅलाॅजी के इनोवेशन का समावेश करता है। यह डिवाईस खिलाड़ियों एवं कोच को

Read More

बाल दिवस पर ब्रेट ली का अनुरोध बच्चों की सुनने की क्षमता को स्वस्थ रखने पर दिया जाए ध्यान

संवाददाता (दिल्ली) बाल दिवस मनाने के लिए नई दिल्ली के ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल सायंसेस (एम्स) के सहयोग से लिटिल थिएटर ग्रुप ऑडिटोरियम में आयोजित किए गए इस विशेष कार्यक्रम में कॉक्लियर के ग्लोबल हियरिंग अम्बेसडर और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाडी ब्रेट ली ने बच्चों के माता-पिता और सरकार, अधिकारीयों

Read More

Skullcandy® introduces VERT™ Wireless Earbuds for adventure enthusiasts

Correspondent (Delhi) With a history rooted in outdoor sports, Skullcandy, Inc., the original lifestyle audio brand, announces the launch of Vert: the clip-anywhere wireless earbuds set to re-invent how music can seamlessly integrate into the world of adventure sports. Vert is purpose-built with sport-specific features ready to take on heat, dirt and everything

Read More

टाटापॉवर-डीडीएल ने ई-वाहनों का उपयोग करके संचालन और मैंनटीनैंस फ्लीट चलाने की शुरूआत की

संवाददाता (दिल्ली) टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रिब्यूशन लिमिटेड (टाटापावर-डीडीएल) क्लीन एंड ग्रीन टेक्नोलॉजी पहल के लिए अपने निरंत प्रयासों में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ाकर देश में फ्रंट-रनर यूटिलिटी के रूप में जानी जाती है। कंपनी ने चरणबद्ध तरीके से ज़ूमकार के साथ एक पायलट परियोजना शुरू की है जिसके तहत शुरू

Read More

साईबर धोखे का शिकार होने से बचें

हम टेक्नॉलॉजी के युग में जी रहे हैं, जहां हम पहले से ज्यादा कनेक्टेड हैं। चाहे इन्फॉर्मेशन हो, उत्पाद या सेवाएं, हमें हर चीज़ हर जगह और हर वक्त उपलब्ध है। आज टेक्नॉलॉजी ने उपभोक्ताओं को पारंपरिक ऑफलाईन माध्यमों से गतिशील ऑनलाईन दुनिया में लाकर खड़ा कर दिया है। दुनिया में सबसे तेजी से विकसित होते हुए रिटेल बाजारों में से एक के रूप में हमारे देश में डिजिटल खरीददारों की संख्या 2020 तक 330 बिलियन तक पहुंचने का अनुमान है। आने वाले सालों में यह संख्या कई गुना ज्यादा बढ़ जाएगी। जहां एक तरफ तेजी से होते डिजिटल परिवर्तन के अनेक फायदे हैं, तो वहीं ई-वर्ल्ड ने साईबर धोखाधड़ी के द्वार भी खोल दिए हैं। इस साल टेकआर्क की एक रिपोर्ट में सामने आया कि 2018 में ईकॉमर्स ने भारत में होने वाले कुल एड धोखाधड़ी में 51 प्रतिशत से ज्यादा योगदान दिया। एक दूसरी रिपोर्ट में दावा किया गया कि भारत दुनिया में सर्वोच्च फिशिंग होस्टिंग देशों की सूची में दूसरे स्थान पर है। जोखिम स्पष्ट है और बिना सावधानी के आप साईबर धोखाधड़ी के शिकार हो सकते हैं। इसलिए यहां आपको कुछ सावधानियों के बारे में बताया जा रहा है। सबसे पहली सावधानी यह बरतें कि अपनी पर्सनल बैंकिंग एवं सिक्योरिटी डिटेल्स की जानकारी, जैसे पासवर्ड, ओटीपी किसी भी टेलीकॉलर या किसी अन्य को न बताएं, क्योंकि ई-कॉमर्स या इंटरनेट कंपनी का कोई भी कस्टमर सपोर्ट सेंटर कभी भी आपसे आपकी पर्सनल बैंकिंग की जानकारी नहीं मांगता। इस नियम का कड़ा पालन करें। इसके अलावा मेकमाईट्रिप आपको कुछ सुझाव दे रहा है, जिनकी मदद से आप खुद को साईबर धोखे का शिकार होने से बचा सकते हैं – आपको गूगल सर्च परिणाम या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स द्वारा मिलने वाले जाली कॉन्टैक्ट नंबर्स के प्रति सतर्क रहना चाहिए। ई-कॉमर्स/इंटरनेट कंपनी से सदैव उनके रजिस्टर्ड या आधिकारिक कस्टमर केयर नंबर पर ही संपर्क करें। इसलिए कस्टमर केयर नंबर डायल करने से पहले उसे दोबारा जाँच कर नंबर की पुष्टि कर लें। किसी भी टेलीकॉलर के निवेदन पर ऐप्स इंस्टॉल न करें क्योंकि इसका उपयोग जालसाज आपके सेव किए गए कार्ड/खाते की जानकारी प्राप्त करने तथा आपके फोन को दूर से ही नियंत्रित करने के लिए कर सकते हैं। आपको अपने क्रेडिट कार्ड, बैंकिंग का विवरण या भुगतान संबंधी जानकारी केवल ईकॉमर्स/इंटरनेट कंपनी की सुरक्षित वेबसाईट के माध्यम से विनिमय करते वक्त ही देनी चाहिए। अनपेक्षित ईमेल या टेलीकॉलर्स के माध्यम से किसी भी तरह के निवेश के ऑफर का उत्तर देने के दौरान सावधानी बरतें। बहुत अच्छी दिखने वाली डील्स पर प्रतिक्रिया देते वक्त बहुत सावधान रहने की जरूरत है, क्योंकि कई बार जालसाज फिशिंग के प्रयास के तहत आपको बेहतरीन डील या ऑफर दे सकते हैं। अंत में सबसे जरूरी बात। आप खुद वॉचडॉग बनकर सुरक्षा बनाए रखने में योगदान दे सकते हैं। यदि आपके कोई व्यक्ति आपकी गोपनीय जानकारी मांगे, तो आपको फौरन इंटरनेट कंपनी को सूचित करना चाहिए या अपने बैंक को तत्काल इसकी सूचना देनी चाहिए। जब भी आप ई-शॉपिंग करें, आपको उपरोक्त बातें ध्यान में रखनी चाहिए, जिससे आप उन साईबर अपराधियों से सुरक्षित रहेंगे, जो आपके बैंक खाते या वॉलेट से पैसे चुराने की ताक में रहते हैं।

Read More

RITES Q2FY20 Revenue up by 85.8%, PAT up by 112%

Correspondent (Delhi) RITES Ltd. (NSE: RITES, BSE: 541556), the leading Transport Infrastructure Consultancy and Engineering firm, reported its standalone and consolidated financial results for the Quarter and Half Year ended on 30th September, 2019. Highlights for Q2FY20 Standalone Financials Total Revenue up by 88.2% to `874 crore Operating Revenue up by 70.8% to `726 crore Profit Before

Read More

ब्रिक्समैथ प्रतिस्पर्धा सफलतापूर्वक आयोजित

￰￰￰संवाददाता (दिल्ली) :  ब्रिक्समैथ डॉट कॉम नाम से ज्ञात गणित की अंतर्राष्ट्रीय आनलाइन प्रतिस्पर्धा ब्रिक्स राष्ट्रों के स्कूल विद्यार्थियों को एक साथ जोड़कर प्रतिभागिता करने का एक प्लेटफार्म है। इस प्रतिस्पर्धा से सृजनात्मकता प्रोत्साहित हुई है और ब्राजील, रूस, भारत, चीन एवं दक्षिण अफ्रीका के मध्य शिक्षा, संस्कृति एवं नवोपायों

Read More

सेहत के लिए हानिकारक है- प्लास्टिक इससे बचे

लाल बिहारी लाल आज भागमभाग भरी  जिंदगी  में  मानव इस कदर उलझ  गया   है  कि  वो न अपने सेहत  पे औऱ  नाहीं प्रकृति  को बचाने  के प्रति ध्यान दे पाता हैं। इसके परिणामस्वरुप वातावरण  दूषित और  स्वंय  बिमार  रहने  लगा है। यूं तो प्रकृति  को सबसे ज्यादा खतरा  प्रदूषण से है

Read More